DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पथराव के बाद चार घंटे तक बेलडीह में डटी रही पुलिस

शेरघाटी थाने के बेलडीह गांव से बुधवार की आधी रात को पुलिस ने मधेशर यादव हत्याकांड के अभियुक्तों के रिश्तेदारों को सुरक्षित निकाला। इससे पूर्व चार घंटे तक पुलिस गांव के बाहर डटी रही। शेरघाटी के डीएसपी उपेंद्र प्रसाद ने गुरुवार को बताया कि गुस्साए ग्रामीणों के बीच से अभियुक्तों के रिश्तेदारों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। हत्याकांड के अभियुक्तों के रिश्तेदारों के साथ गांव में पहुंची पुलिस को देखकर ग्रामीण भड़क गए थे। अभियुक्तों के रिश्तेदारों को पुलिस अपने साथ लेकर उनके पालतू पशुओं और घर के कीमती सामानों को हटाने गई थी। हत्याकांड के अभियुक्तों को पकड़ने की जगह पुलिस के उनके रिश्तेदारों से हमदर्दी जताने के चलते गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया और उनके संरक्षण से दो महिलाओं और एक पुरूष को निकालकर उनके साथ मारपीट की। मंगलवार की रात मधेशर यादव की गांव में ही बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। इसी को लेकर ग्रामीण आक्रोशित थे। ग्रामीणों के हमले में पुलिस जीप को भी नुकसान पहुंचा था। इसमें घायल इमामगंज थाने के मेनका गांव के उदय यादव नामक ग्रामीण और अभियुक्त के रिश्तेदार को पुलिस ने चार घंटे बाद गांव से सुरक्षित निकाल कर शेरघाटी के अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया। इससे पूर्व दोनों महिलाएं और उनके एक पुरूष रिश्तेदार गांव के अपने घर में छिपे रहे। पुलिस के अनुसार एक सहायक सब इंस्पेक्टर वरीय अधिकारियों के आदेश के बगैर अभियुक्तों के रिश्तेदारों को अपने साथ लेकर गांव में चला गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Police in Beldih village