DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तस्करी के आरोपित होमगार्ड जवान ने फिर दिया पुलिस को चकमा

शराब, महुआ और गांजा की तस्करी के मामले में वांछित शेरघाटी थाने की पुलिस का पूर्व चालक और होमगार्ड जवान तीन महीने से शेरघाटी थाने की पुलिस के साथ लूका छिपी का खेल खेल रहा है। जीटी रोड पर स्थित शेरघाटी थाने के गोपालपुर गांव का रहने वाला रामपुकार सिंह नामक होमगार्ड जवान शुक्रवार की रात भी पुलिस के हाथ नहीं आया है। दिन में गोपालपुर गांव में उसकी मौजूदगी की पक्की सूचना के बाद जब पुलिस ने रात में उसके तीन अलग-अलग घरों में दस्तक दी तो वह गायब मिला। पुलिस को खाली हाथ ही लौटना पड़ा। शेरघाटी के थानेदार उदय शंकर ने शनिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि शराब तस्करी और चोरी की गाड़ी रखने के मामले में वांछित एक अन्य अभियुक्त शेरघाटी थाने के वार्ड कमिश्नर शंकर दास के चट्टी मुहल्ला स्थित घर को भी घेरा गया था। घर में अभियुक्त तो नहीं मिला, मगर उसकी दीवार पर टंगी तस्वीर मिली है, जिसे पुलिस ने अपने कैमरे में कैद कर लिया है। शहर में शंकर दास की मौजूदगी को लेकर पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी। बता दें कि गत 6 फरवरी को पुलिस कार्रवाई के दौरान होमगार्ड जवान के घर के अहाते में गांजे की खेती का पता चला था। पुलिस ने घर से ही तस्करी के लिए तैयार गांजे की खेप को भी जब्त किया था। इस मामले में होमगार्ड जवान और उसके परिवार के तीन अन्य लोगों को अभियुक्त बनाया गया था। इससे पूर्व पांच फरवरी को नशे की हालत में गिरफ्तार होमगार्ड जवान को पुलिस ने कागजी औपचारिकता पूरी कर थाने से ही छोड़ दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Police carried out raid to nab the homeguard personnel