DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पांच से 20 सितंबर तक लगेगा पितृपक्ष मेला

गया का विश्व प्रसिद्ध पितृपक्ष मेला इस वर्ष पांच से बीस सितंबर तक आयोजित होगा। मेले की तैयारी को लेकर समीक्षा शुरू हो गई है। शुक्रवार को डीएम कुमार रवि ने अधिकारियों के साथ बैठक की और वेदियों की साफ सफाई के साथ आवश्यक निर्देश दिए। डीएम ने अधिकारियों से कहा कि इस बार मेले में दस लाख से ज्यादा श्रद्धालु आने की संभावना है। मेले में नगर निगम की बड़ी भूमिका रहती है। साफ सफाई, पेयजल, जलापूर्ति, बिजली, स्वच्छता, प्रकाश, सड़क, नाली की मरम्मत, आवासन आदि की व्यवस्था पर चर्चा हुई। इस मौके पर पर्यटन विभाग के अधिकारी ने बताया कि पितृपक्ष मेला में मूलभूत सुविधाओं को सुनिश्चत कराने के लिए चौदह समितियों का गठन किया गया है। डीएम ने नियंत्रण कक्ष, कॉल सेंटर, वेबसाइट, स्मारिका, प्रशस्ति पत्र, प्रचार प्रसार विधि व्यवस्था आदि की व्यवस्था करने का निर्देश दिया। पीएचईडी को निर्देश दिया गया कि पहले से बेहतर शौचालयों का निर्माण कराएं। पथ निर्माण विभाग को नगर की सड़कों के निर्माण का काम शुरू करने को कहा गया। पर्यटन विभाग के अधिकारियों को कहा गया कि गायत्री घाट और सीताकुंड के पास शौचालय का निर्माण हर हाल में 15 अगस्त तक पूरा हो जाना चाहिए। सुरक्षा व्यवस्था के लिए सभी मुख्य सड़कों के बड़ी दुकानों, बैंक, पेट्रोल पंप, होटल, स्कूल अपने अपने परिसर के सामने सीसीटीवी लगाएंगें। जिन स्थानों पर श्रद्धालु ठहरेंगे वैसे स्थानों पर बेहतर व्यवस्था और साफ सफाई कराने का निर्देश दिया गया। पितृपक्ष मेला के लिए पंडागण का रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन कराने को कहा। बैठक में डीडीसी संजीव कुमार, सिटी एसपी अवकाश कुमार के अलावा कई अधिकारी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pitripaksh fair to be held from September 5 to 20