ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार गयापरशुराम ने शास्त्र की रक्षा व शस्त्र की उपयोगिता को बताया

परशुराम ने शास्त्र की रक्षा व शस्त्र की उपयोगिता को बताया

राष्ट्रीय ब्रह्मर्षि सेवा अभियान की ओर से शनिवार को परशुराम जयंती मनायी गयी। प्रमंडलीय कार्यालय में आयोजित जयंती समारोह में परशुराम जी की तैल चित्र...

परशुराम ने शास्त्र की रक्षा व शस्त्र की उपयोगिता को बताया
हिन्दुस्तान टीम,गयाSat, 11 May 2024 09:30 PM
ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रीय ब्रह्मर्षि सेवा अभियान की ओर से शनिवार को परशुराम जयंती मनायी गयी। प्रमंडलीय कार्यालय में आयोजित जयंती समारोह में परशुराम जी की तैल चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई। रंगनाथ आचार्य जी ने स्वस्ति वाचन व मंत्रोचारण किया। वक्ताओं ने कहा कि भगवान विष्णु के छठे अवतार जो शास्त्र की रक्षा के साथ शस्त्र की उपयोगिता को पूरे मानव जीवन को बताया। परशुरामजी ही एक ऐसे अवतार हुए जो चिरंजीवी हैं। उन्होंने इक्कीस बार आततायियों का संहार किया। इसके बाद संगठनात्मक बैठक हुई जिसमें बिहार राज्य का कार्यकारी अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा को सर्वसम्मति से बनाया गया । संगठन विस्तार पर भी चर्चा की गई। चलो गांव की ओर नारा दिया गया । अध्यक्षता करते हुए सचिव महेश शर्मा ने बताया कि 14 मई को शहीद बैकुंठ शुक्ल की जयंती मनाने जाएगी। इसी दिन गया सेंट्रल जेल से पदयात्रा निकलेगी जो शहीद बैकुंठ शुक्ल पार्क में आकर सभा में तब्दील हो जाएगी। बताया कि सभी महापुरुषों की प्रतिमा का कैलेंडर बनाकर गांव-गांव में वितरित किया जाएगा । बताया कि जल्द ही बैकुंठ शुक्ल की आदमकद प्रतिमा पार्क में स्थापित की जाएगी। कार्यक्रम का संचालन संचाल्जिलाध्यक्ष अजय कुमार ने किया। धन्यवाद ज्ञापन संजय ने किया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।