DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  गया  ›  नगर पंचायत का दर्जा मिलने के बाद भी फतेहपुर में विकास नहीं
गया

नगर पंचायत का दर्जा मिलने के बाद भी फतेहपुर में विकास नहीं

हिन्दुस्तान टीम,गयाPublished By: Newswrap
Wed, 16 Jun 2021 10:00 PM
नगर पंचायत का दर्जा मिलने के बाद भी फतेहपुर में विकास नहीं

फतेहपुर। एक संवाददाता

प्रखंड की फतेहपुर पंचायत और मोरहे पंचायत के तीन वार्ड को नगर पंचायत का दर्जा तो मिला है। लेकिन यहां विकास का कोई काम शुरू नहीं हुआ है। जबकि नगर पंचायत का दर्जा मिले तीन माह का समय बीत चुका है। हालांकि इधर दो दिनों से यहां सफाई का कार्य शुरू किया गया है। इसमें 50 मजदूरों को लगाया गया है। फतेहपुर पंचायत के सभी 19 वार्ड और मोरहे पंचायत के तीन वार्ड को मिला कर फतेहपुर को नगर पंचायत बनाया गया है। नगर पंचायत बनने के बाद यहां को निवासियों में अपने क्षेत्र में चहुमुखी विकास की उम्मीद जगी थी।

तीन माह बाद भी विकास का कोई कार्य शुरू नहीं होने से लोगों में निराशा है। यहां अभी की स्थिति यह है कि सभी मुख्य बाजारों और मुहल्लों की नालियां कूड़े से भरी पड़ी हैं। इस कारण नाली जाम हो गया है। नाली जाम रहने से पानी सड़क पर बह रहा है। झंडाचौक मुख्य बाजार में थोड़ी सी भी बारिश हो जाने से सड़क पर भारी जल जमाव हो जाता है। नाली की सफाई नहीं होने से सड़क पर कीचड़ बह रहा है। इससे लोगों को आवाजाही में काफी परेशानी हो रही है। इसी तरह नगर पंचायत के अंदर बड़ा बाजार, इटवां, बभनटोली, शीतलपुर आदि मुहल्लों की नालियां भी कूड़ा-कचड़ा से भरा पड़ी हैं। इस कारण नाली का पानी सड़क पर बह रहा है। वाजारवासी का कहना है कि नाले की सफाई नहीं होने से पानी का निकास नहीं हो पा रहा है। अगर नाले की सफाई नहीं कराया गया तो बरसात में भारी परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

संबंधित खबरें