Monday, January 17, 2022
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार गयासूचना देने में लापरवाही, डीटीओ पर एफआईआर का आदेश

सूचना देने में लापरवाही, डीटीओ पर एफआईआर का आदेश

हिन्दुस्तान टीम,गयाNewswrap
Thu, 13 Jan 2022 09:10 PM
सूचना देने में लापरवाही,  डीटीओ पर एफआईआर का आदेश

राज्य सूचना आयोग ने दिया आदेश

एसएसपी को एफआईआर करने आदेश

- संबंधित आवेदक को सूचना न देकर, दूसरे को सूचना दिए जाने की है शिकायत

गया। हिन्दुस्तान संवाददाता

राज्य सूचना आयोग ने गया डीटीओ पर एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है। वर्ष 2018 से सम्बंधित सूचना देने में लापरवाही के खिलाफ यह आदेश एसएसपी को दिया गया है। शिकायत है कि संबंधित अपीलकर्ता को सूचना न देकर, दूसरे को सूचना दी गयी।

इस सम्बंध में वर्तमान डीटीओ विकास कुमार ने बताया कि आवेदक द्वारा सही पता अंकित नहीं किये जाने के कारण दूसरे ने सूचना प्राप्त की थी। बाद में सही आवेदक को सूचना उपलब्ध करायी गयी है। जिले में ध्वनि प्रदूषण व वायु प्रदूषण की रोक थाम के लिए की गई कार्रवाई से सम्बंधित जानकारी के लिए 2018 में रणजीत कुमार ने सूचना का अधिकार के तहत डीएम से जानकारी की मांग की थी।

मांग में कार्रवाई रिपोर्ट, जांच रिपोर्ट व खर्च की राशि से सम्बंधित सूचना मांगी गई थी। इसकी सूचना उपलब्ध नहीं होने के कारण इस मामले को राज्य सूचना आयोग के पास अपील की गई। 2021 में आयोग से नोटिस जारी किए जाने के बाद डीटीओ ने अपीलार्थी को सूचना उपलब्ध कराने का दावा पेश किया। इस पर अपीलार्थी ने आपत्ति दर्ज की। डीटीओ द्वारा आयोग के समक्ष साक्ष्य के रूप में उपलब्ध कराई गई सूचना पर अपीलार्थी का हस्ताक्षर नहीं है। इस पर आयोग के निर्देश के आलोक में अपीलार्थी ने एक शपथ पत्र आयोग को समर्पित किया। शपथ पत्र जमा करने के बाद मुख्य सूचना आयुक्त ने डीटीओ पर जान बूझकर धोखाधड़ी के आरोप में प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश एसएसपी को दिया है। एक सप्ताह के अंदर रिपोर्ट देने को कहा है।

वर्तमान डीटीओ विकास कुमार का कहना है कि अपीलीकर्ता को मांगी गई सूचना उपलब्ध करायी गयी थी। अपीलार्थी का सही पता नहीं रहने के कारण समय पर उन्हें सूचना उपलब्ध नहीं हो पायी थी। कार्यालय द्वारा 30-6-2018 को डाक द्वारा सूचना उनके घर के बताए पता पर भेजा गया था। लेकिन उन्हें सूचना नहीं मिलने पर 9-8-2021 को स्पेशल मैसेंजर द्वारा भेजा गया। बताए गए पते अबगिल्ला देवी स्थान जाकर रंजीत कुमार के हस्ताक्षर से सूचना की कॉपी रिसीव की गयी थी। बाद में आयोग में पता चला कि आवेदक रंजीत कुमार जगदीशपुर अबगिल्ला में रहते हैं। आयोग के समक्ष उपस्थित अपीलयकर्ता को सूचना की कॉपी उपलब्ध करायी गयी है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें