DA Image
2 अगस्त, 2020|4:10|IST

अगली स्टोरी

आमस में सोलर प्लांट उड़ाने में शामिल नक्सली को जेल

default image

पुलिस के समक्ष सरेंडर करने वाला हार्डकोर नक्सली अखिलेश उर्फ अमरेश भुइयां को पूछताछ के बाद गुरुवार को जेल भेज दिया गया। जेल भेजे जाने से पूर्व शेरघाटी के रेफरल अस्पताल में उसका कोरोना जांच करायी गयी। थानाध्यक्ष अनिल कुमार सिंह ने कहा कि पूछताछ में उसने आमस के मलरवाडीह सोलर प्लांट उड़ाने में शामिल होने की बात कबूली है। उसने पुलिस को बताया कि लेवी नहीं दिये जाने पर संगठन के बड़े सरकार संदीप यादव के नेतृत्व में प्लांट को आईडी बम बिस्फोट कर उड़ाया गया था। उड़ाने में दर्जन भर महिला दस्ता सहित करीब 50-60 नक्सली शामिल थे। घटना को अंजाम देने के लिए एक सप्ताह से क्षेत्र की रेकी व प्लांट कर्मियों की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही थी। जिले के सलैया थाना के निमिया रेहला गांव के तीस वर्षीय उक्त नक्सली औरंगाबाद के विधान पार्षद के घर उड़ाने व पुलिस के साथ मुठभेड़ में भी शामिल था। सरेंडर को पुलिस बड़ी कामयाबी मान कर चल रही है। साथ ही इसके सरेंडर से नक्सली संगठन को कमजोर पड़ने की उम्मीद है। चूंकि यह संगठन के लिए महत्वपूर्ण था। बता दें कि नक्सली संगठन भाकपा माओवादियों ने सितंबर 2017 में प्लांट के कंट्रोल रूप में उड़ा दिया था। जिससे प्लांट को करोड़ रुपये से अधिक की भारी क्षति हुई थी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Naxalites jailed for blowing solar plant in Amas