Wednesday, January 26, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार गयापुलिस के डर से सूबे में मुसहर पासी अपना-अपना घर छोड़कर भाग गया: उदय नारायण

पुलिस के डर से सूबे में मुसहर पासी अपना-अपना घर छोड़कर भाग गया: उदय नारायण

हिन्दुस्तान टीम,गयाNewswrap
Tue, 30 Nov 2021 09:20 PM
पुलिस के डर से सूबे में मुसहर पासी अपना-अपना घर छोड़कर भाग गया: उदय नारायण

बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष और राजद के वरीय नेता उदय नारायण चौधरी ने कहा है कि सूबे में शराबबंदी जिस तरह से लागू की गई है यह तरीका नहीं चलेगा। शराबबंदी के पूर्व जनजागरण चलाना चाहिए था। राज्य में सब मुसहर-पासी सोलह तारीख के बाद अपना-अपना घर छोड़कर भाग गया है। पत्नी कहीं है, बच्चे कहीं हैं और लोग भागे फिर रहे हैं। पुलिसिया आतंक शुरू होने के कारण। शराबबंदी को कड़ाई से लागू करने की जगह गरीब-गुर्बा को पुलिसिया आतंक का शिकार बनाया जा रहा है। शराबबंदी सही है, मगर इसका तौर तरीका गलत है। शेरघाटी के लोदीशहीद मुहल्ले में सामाजिक कार्यकर्ता आबिद इमाम के घर पर पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक के बाद मंगलवार को राजद नेता श्री चौधरी ने इस संवाददाता से बातचीत करते हुए उपरोक्त बातें कहीं।

उन्होंने कहा कि कहीं शराबबंदी नहीं है। अब तो होम डिलीवरी शुरु हो गई है। सवाल यह है कि पटना-मुजफ्फरपुर में शराब पहुंच कैसे रही है। सीएम नीतीश कुमार ने 16 नवम्बर को छठी बार सूबे में शराबबंदी की समीक्षा की। इसके बाद से ही गरीब लोग डर गए हैं। शराब बिकना बंद नहीं हुआ है। शराबबंदी के गलत तौर तरीके से गरीबों का जीना मुश्किल हो गया है। हाल ही में जो कोर्ट का फैसला आया उसमें गरीबों को आजीवन कारावास की सजा दी गई है। एक भी बड़े माफिया को पकड़ा नहीं गया है। उन्होंने कहा कि सरकार के इस फैसले से राज्य की जनता को 20 हजार करोड़ का नुकसान सहना पड़ रहा है। यह पैसा माफिया की जेब में जा रहा है।

epaper

संबंधित खबरें