DA Image
1 जुलाई, 2020|5:32|IST

अगली स्टोरी

गबन व अनियमितता के मामले में मगध सेंट्रल को-आपरेटिव कर्मी बर्खास्त

default image

मगध सेंट्रल को-आपरेटिव बैंक कर्मो राहुल सक्सेना कोगबन व अनियमितता के मामले में मगध सेंट्रल को-आपरेटिव बैंक के प्रबंध निदेशक ने एक कर्मी को नौकरी से बर्खास्त कर दिया है। 30 जून को बर्खास्तगी का आदेश जारी किया गया है। विभागीय सूत्रों ने बताया कि बैंक कर्मी अनुसेवक राहुल सक्सेना पर सोहैपुर पैक्स के कुछ निर्वाचन अभ्यर्थियों द्वारा शिकायत की गयी थी कि फर्जी तरीके से एनआर निर्गत किया गया तथा एनओसी देने का भी फर्जी तरीके से जारी किए जाने का आरोप लगाया गया था। प्रबंध निदेशक के आदेश पर नोडल अधिकारी द्वारा इसकी जांच की गयी थी जिसमें शिकायत सत्य पाया गया। डीएम के निर्देश पर बैंक कर्मी राहुल सक्सेना पर कार्रवाई करते हुए तत्कालीन प्रबंध निदेशक ने उसे निलंबित कर दिया था। साथ ही उन पर विभागीय कार्रवाई भी प्रारंभ की गई थी। इनपर बैंक की राशि गबन का भी आरोप है। विभागीय कार्यवाही के संचालन अधिकारी ने बैंक कर्मी राहुल सक्सेना की सेवा समाप्ति की अनुशंसा मुख्यालय से की गयी थी। प्रबंध निदेशक द्वारा राहुल सक्सेना के विभागीय कार्यवाही के निर्णय की समीक्षा की गई साथ ही उसके निजी संचिका व बैंक अभिलेख का गहन अवलोकन किया गया जिसमें कई गंभीर मामले सामने आये। राशि गबन के साथ ही कार्यालय से लगातार अनुपस्थित रहने, गया से अरवल स्थानांतरण के बाद भी योगदान नहीं करने, जेल में रहने की बात को छिपाने, तत्कालीन प्रबंध निदेशक द्वारा जवाब तलब करते हुए तत्काल योगदान देने का दिए गए आदेश का भी इनके द्वारा अनुपालन नहीं करने आदि की भी शिकायतें रही है। ऐसी स्थिति को देखते हुए प्रबंध निदेशक अमर कुमार झा ने डीएम के आदेश पर बैंक कर्मी अनुसेवक रमेश सक्सेना को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कर दिया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Magadha Central Co-operative personnel sacked for embezzlement and irregularities