DA Image
2 दिसंबर, 2020|6:05|IST

अगली स्टोरी

आईसोलेशन वार्ड का अधिकारियों ने लिया जायजा

default image

एएनएम ट्रेनिंग कॉलेज के भवन में बनाए गए आईसोलेशन वार्ड का निरीक्षण गुरुवार को जिला कल्याण पदाधिकारी जितेंद्र कुमार, जिला मलेरिया पदाधिकारी और डीआरयू के हेड शशि रंजन ने निरीक्षण किया। उन्होंने अस्पताल में लगाये गए बेड को देखा और वार्ड में की गई व्यवस्थाओं की जानकारी अस्पताल प्रबंधन से ली। जांच टीम रिपोर्ट डीएम को सौंपेगी। अस्पताल के अधिकारी व कर्मी ने नोडल अधिकारी को बताया कि वार्ड में फिलहाल 39 बेड लगाया गया है। वार्ड के नोडल अधिकारी डॉ. गौरव प्रकाश को बनाया गया है। वार्ड में तीन शिफ्टों में डॉक्टर, एएनएम और फोर्थ ग्रेड के कर्मी की प्रतिनियुक्ति की गई है। बीस ऑक्सीजन सिलेंडर, छह ऑक्सीजन फ्लोमीटर और पल्स ऑक्सीमीटर की उपलब्धता की जानकारी दी। आईसोलेट किये जाने वाले मरीज को पीने का पानी के लिए आरओ वाटर सप्लायर से बात करने की जानकारी जांच अधिकारी को दी गई। जांच अधिकारी ने शौचालय में पानी की उपलब्धता देखना चाहा तो नल से पानी नहीं निकला। टंकी भरवाकर शौचालय में पानी की उपलब्धता चेक करने पर जोर दिया गया। साफ-सफाई की व्यवस्था की भी जानकारी ली। आईसोलेशन सेंटर आने वाले संक्रमित मरीजों को अस्पताल के मुख्य द्वार से नहीं बल्कि पीछे वाली दूसरी गेट से अंदर लाया जाएगा। मलेरिया पदाधिकारी ने 40 बेड लगवाने को कहा। निकट भविष्य में बेड की संख्या बढ़ाई भी जा सकती है। निरीक्षण के दौरान अस्पताल प्रभारी उपाधीक्षक डॉ. सरोज कुमार सिंह, डॉ. गौरव प्रकाश व फार्मासिस्ट जेके मधुकर मौजूद थे। मालूम हो कि आपका अपना अखबार हिन्दुस्तान ने कल ही आईसोलेशन वार्ड की पड़ताल करते हुए टिकारी में नहीं शुरू हो सका आईसोलेशन वार्ड हेडिंग से खबर प्रमुखता से छापी थी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Isolation ward officials took stock