ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार गयामहिला एवं बच्चे के उपर से गुजरी मालगाड़ी, जिन्दा बचे दोनों

महिला एवं बच्चे के उपर से गुजरी मालगाड़ी, जिन्दा बचे दोनों

यह घटना शुक्रवार की सुबह गया - किउल रेलखंड पर पुरा हॉल्ट एवं जमुआवां स्टेशन के बीच अढ़वां गांव के निकट...

महिला एवं बच्चे के उपर से गुजरी मालगाड़ी, जिन्दा बचे दोनों
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,गयाFri, 31 May 2019 06:37 PM
ऐप पर पढ़ें

जाको राखे साइयां मार सके न कोय की कहावत शुक्रवार को एक बार फिर चरितार्थ हुई है। चलती ट्रेन के सामने एक महिला गोद में बच्चे लिए जान देने के लिए खड़ी हो गयी। यह देखकर चालक ने ट्रेन की रफ्तार जरूर कम की लेकिन ट्रेन से टकराकर महिला व बच्चे ट्रैक पर गिर गयी। पूरी ट्रेन महिला व बच्चे के उपर से गुजर गयी। ट्रेन से धक्का लगने के बाद भी महिला व उसके बच्चे की जान बच गयी। हालांकि दोनों के सिर में चोटें आयी है। यह घटना शुक्रवार की सुबह गया - किउल रेलखंड पर पुरा हॉल्ट एवं जमुआवां स्टेशन के बीच अढ़वां गांव के निकट हुई।

घटना के बाद स्थानीय ग्रामीणों के सहयोग से महिला को सीएचसी लाया गया, जहां दोनों का प्राथमिक चिकित्सा के बाद विशेष इलाज के लिए महिला को मगध मेडिकल रेफर कर दिया गया। घायल महिला को अस्पताल लेकर आये प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि महिला अपने बच्चे के साथ आत्महत्या की नीयत से आई थी। वह रेलवे ट्रैक के बीच में खड़ी हो गई, सामने से आ रही मालगाड़ी चालक ने ट्रैक पर महिला को देखकर उसे बचाने के लिए ब्रेक लगाया। लेकिन ट्रेन रुकी नहीं। हालांकि ट्रेन धीमी जरूर हुई। महिला ट्रेन से टकराकर ट्रैक के बीच में गिर गई और पूरी ट्रेन उसके उपर से गुजर गई। स्थानीय लोग उसे देखने के लिए दौड़ पड़े। इस हादसे के बाद भी महिला एवं उसके बच्चे को जीवित देख लोग हैरत में पड़ गए। लोगों ने तत्काल बाइक पर एक सहयोगी की सहायता से बिठाया तथा एम्बुलेंस को फोन किया, मुख्य सड़क से उसे एम्बुलेंस से ही सीएचसी ले जाया गया। महिला की पहचान अतरी थाना क्षेत्र अंतर्गत जोता निवासी राजकुमार प्रसाद उर्फ बबन की 23 वर्षीय पत्नी पुष्पा देवी के रूप में हुई है। परिजनों के अनुसार उसका पति दूसरे जगह पर मजदूरी करता है। सुबह में उसका फोन आया था, उसके बाद वह वजीरगंज जाने के लिये कह रही थी। इसी बात को लेकर दोनों के बीच कहा सुनी हुई। इससे गुस्साए महिला ने अपने बच्चे के साथ जान देने की कोशिश की। हालांकि दोनों सही सलामत बच गए।

। फोटो - वजीरगंज सीएचसी में घायल महिला का इलाज करते चिकित्सक

epaper