DA Image
21 जनवरी, 2020|10:41|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विदेशी छात्रों को भाषाई दक्षता जरूरी-: वीसी

default image

उच्च शिक्षा को आगे बढ़ाने के लिए मगध यूनिवर्सिटी विदेशी छात्रों को आकर्षित करने के लिए बढ़ावा देगा। भाषा में दक्षता प्रदान करने के लिए पाठ्यक्रम चलाये जाएंगे। हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत तथा पाली भाषा का ज्ञान दिया जाएगा। शनिवार को मगध यूनिवर्सिटी वीसी प्रो राजेन्द्र प्रसाद की अध्यक्षता में एकेडमिक काउंसिल की बैठक हुई। इसमें विदेशी छात्रों की भाषाई दक्षता की जांच का निर्णय लिया गया। बैठक में पूर्व विद्वत परिषद की कार्यवृत्त को पास किया गया। यह जानकारी देते हुए कुलसचिव डॉ एस एन पी यादव दीन ने बताया कि दक्षिण-पूर्व एशिया तथा दक्षिण एशियाई देशों के छात्र- छात्राओं को स्नातक, स्नातकोत्तर, डिप्लोमा, शोध कार्यों तथा अन्य पाठ्यक्रमों शैक्षणिक प्रोग्राम औपचारिकता पूरी करने के बाद ही प्रवेश देने का निर्णय भी लिया गया। विज्ञान के क्षेत्र में छात्रों को नई शिक्षा देने के लिए कई नये पाठ्यक्रम शुरू किया जाएगा। विदेशी छात्र- छात्राओं को हिंदी भाषा की शिक्षा दी जाएगी। ताकि वे विश्वविद्यालय में अपना पाठ्यक्रम आसानी से सीख सकें। इसके लिए हिंदी भाषा का एक पाठ्यक्रम तैयार किया गया है। जिसे 3 महीना में पूरा किया जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: Foreign students need linguistic proficiency