DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मधुमेह लोगों की छीन रही आंखों की रोशनी: सिंबा

अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज में विश्व दृष्टि दिवस मनाया गया। विश्व दृष्टि दिवस प्रत्येक वर्ष अक्टूबर के दूसरे सप्ताह के गुरुवार को मनाया जाता है। इस अवसर पर नेत्र विभाग में जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। इसमें 65 मरीजो के आंखो की जांच की गयी।

इस दौरान नोडल पदाधिकारी डा अभय सिंबा ने लोगों को बताया कि आज कल मधुमेह से लोगों के आंखों की रोशनी जा रही है। लोगो को जानकारी भी नहीं होती है। जब वे आंखों की जांच कराते हैं, तब उन्हें मधुमेह की जानकारी होती है। इसलिए लोगों को जब भी आंखों की रोशनी कम लगे, मधुमेह की भी जांच जरूर करानी चाहिए। दूसरा सबसे बड़ा साइलेंट कीलर है ग्लूकोमा। यह धीरे-धीरे अंधा बना देता है। इसमें मरीजो को इसकी जानकारी देर से होती है। जब तक ऑप्टिक नर्व सूख जाता है और इलाज नही हो पाता है।

मोतियाबिंद का इलाज संभव है, पर ग्लूकोमा का नहीं। इसलिए 40 वर्ष के लोगों को दो साल पर आंखों की जांच कराते रहनी चाहिए। वहीं 50 के उम्र के बाद प्रत्येक वर्ष आंखों की जांच करानी चाहिए। इस शिविर में मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य एच जी अग्रवाल, अधीक्षक विजय कृष्ण प्रसाद,नेत्र विभागाध्यक्ष डा अर्जुन चौधरी, डा बीडी गोयल, डा विनय प्रसाद व अन्य स्वास्थ्यकर्मियों ने सहयोग किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Eyeballing of diabetic people Simba