ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार गयासीयूएसबी की डॉ. समापिका ग्रीस में ग्रीन-वाई प्रोजेक्ट में हुई शामिल

सीयूएसबी की डॉ. समापिका ग्रीस में ग्रीन-वाई प्रोजेक्ट में हुई शामिल

दक्षिण बिहार केन्द्रीय विश्वविद्यालय (सीयूएसबी) के विकास अध्ययन विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. समापिका महापात्रा ने एथेंस में आयोजित युवा महिला...

सीयूएसबी की डॉ. समापिका ग्रीस में ग्रीन-वाई प्रोजेक्ट में हुई शामिल
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,गयाWed, 30 Nov 2022 07:10 PM
ऐप पर पढ़ें

दक्षिण बिहार केन्द्रीय विश्वविद्यालय (सीयूएसबी) के विकास अध्ययन विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. समापिका महापात्रा ने एथेंस में आयोजित युवा महिला उद्यमिता प्रशिक्षण कार्यक्रम में रिसर्च एडवाइजर और प्रशिक्षिका के रूप में भाग लिया। डॉ. महापात्रा ने यूरोपीय संघ के इरास्मस के तहत ग्रीन-वाई परियोजना में एक शोध सलाहकार के रूप में भारत के अग्रगामी (एनजीओ) का प्रतिनिधित्व किया।

डॉ. समापिका महापात्रा ने बताया कि अग्रगामी एकगैर-सरकारी संगठन है जो भारत के अविकसित आदिवासी जिलों में गरीब और पिछड़े समुदायोंके विकास के लिए काम कर रहा है। यह आयोजन समावेशी हरित अर्थव्यवस्था के विकास के लिए युवाओं के बीच महिला उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए आयोजित हुआ। यूरोपीय संघ के इरास्मस प्रोग्राम ने इस परियोजना को ग्रीस में प्रायोजित किया। इस ट्रेनिंग प्रोग्राम में सामाजिक और पर्यावरणीय विकास को बढ़ावा देने के लिए ग्रीन-वाई (ग्रीन यूथ) टीम द्वारा ग्रीन इकोनॉमी के मॉडल पर चर्चा की गई। ग्रीन वाई परियोजना का फोकस युवा महिलाओं की उद्यमशीलता की भावना को बढ़ावा देना है। इसके साथ ही हरित अर्थव्यवस्था मॉडल के माध्यम से क्षमता निर्माण और व्यावहारिक कौशल का विकास किया जाता है। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में चार सहभागी देशों क्रमशः मेक्सिको, इटली, ग्रीस और भारत के युवा महिला प्रशिक्षुओं ने विभिन्न सत्रों में सक्रिय रूप से भाग लिया। डॉ. महापात्रा ने कहा कि आने वाले समय में मैक्सिको, इटली और भारत में भी इस श्रृखंला के ट्रेनिंग प्रोग्राम आयोजित होंगे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।