DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  गया  ›  पूरा पता नहीं होने से आश्रितों को नहीं मिला मुआवजा

गयापूरा पता नहीं होने से आश्रितों को नहीं मिला मुआवजा

हिन्दुस्तान टीम,गयाPublished By: Newswrap
Mon, 24 May 2021 09:30 PM
पूरा पता नहीं होने से आश्रितों को नहीं मिला मुआवजा

पूरा पता नहीं होने से आश्रितों को नहीं मिला मुआवजा

गोल बगीचा के रमेश की पटना एम्स में कोरोना से हुई थी मौत

जिले में कोरोना से अबतक 182 लोगों की गई है जान

गया। प्रधान संवाददाता

कोरोना संक्रमित एक व्यक्ति की मौत के बाद उनके परिजनों को दी जाने वाली सहायता राशि पूरा पता नहीं होने कारण नहीं दिया जा सका है। सोमवार को कोरोना संबंधित समीक्षा बैठक में आपदा के प्रभारी पदाधिकारी ने बताया कि गोल गबीचा, डेल्हा निवासी 66 वर्षीय रमेश प्रसाद की मृत्यु कारोना से हुई थी। उनकी मौत 31 दिसंबर 2020 को पटना एम्स में इलाज के दौरान हुई थी। राज्य स्तर से जो विवरण उपलब्ध कराया गया है उसमें रमेश प्रसाद का मोबाइन नंबर नहीं है। पूरा पता नहीं रहन के कारण उनके आश्रितों से संपर्क नहीं हो पा रहा है। आपदा प्रभारी ने आश्रितों या उनके जाननेवाले से अनुरोध किया है कि इस मामले को लेकर जिला आपदा शाखा में संपर्क करें। जिससे आश्रितों से सहायता राशि प्रदान की जा सके। सोमवार को हुई समीक्षा में बताया गया कि जिले में अबतक 182 लोगों की मौत हुई है। फिलहाल जिले में 1517 एक्टिव केस हैं। इनमें 1348 लोग होम आइसोलेशन में हैं। जिले में कुल 15 लोग डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में भर्ती हैं। जिनमें अंबेदकर छात्रावास मानपुर में दो, गया संग्रहालय में पांच, एएनएम शेरघाटी में दो और एएनएम टिकारी में चार मरीज भर्ती हैं।

अब 36 स्थानों पर सामुदायिक रसोई

समीक्षा में बताया गया कि अब जिले में 36 स्थानों पर सामुदायिक रसोई चलायी जा रही है। इनमें सोमवार को 5352 लोगों ने दिन का भोजन और 4212 ने रात का भोजन किया।

संबंधित खबरें