ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार गया6400 लैंड रिकार्डस की हुई आधार सीडिंग, 42 हजार है टारगेट

6400 लैंड रिकार्डस की हुई आधार सीडिंग, 42 हजार है टारगेट

शेरघाटी अंचल कार्यालय में लैंड रिकार्डस के साथ रैयतों या जमीन मालिकों के आधार नम्बर और मोबाइल फोन नम्बर जोड़ने का काम गति नहीं पकड़ पा रहा है। पिछले...

6400 लैंड रिकार्डस की हुई आधार सीडिंग, 42 हजार है टारगेट
हिन्दुस्तान टीम,गयाThu, 07 Dec 2023 08:15 PM
ऐप पर पढ़ें

शेरघाटी अंचल कार्यालय में लैंड रिकार्डस के साथ रैयतों या जमीन मालिकों के आधार नम्बर और मोबाइल फोन नम्बर जोड़ने का काम गति नहीं पकड़ पा रहा है। पिछले कुछ हफ्तों के दौरान अंचल के विभिन्न गांवों में लगाए गए राजस्व कैम्प के बावजूद अबतक सिर्फ 15 प्रतिशत जमीन मालिकों ने राजस्वकर्मियों को आधार नम्बर और फोन नम्बर उपलब्ध कराया है। बताया जाता है कि धनकटनी की वजह से आधार सीडिंग का काम धीमा पड़ा है।
गुरुवार को लैंड रिकार्डस अर्थात जमाबंदी के साथ आधार नम्बर सीडिंग के अभियान की समीक्षा के बाद शेरघाटी के अंचलाधिकारी सुधीर कुमार तिवारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि शेरघाटी अंचल के दस राजस्व हल्के में रहने वाले 42 हजार भू-धारियों के अंचल कार्यालय में मौजूद कम्प्यूटरीकृत लैंड रिकार्डस के साथ आधार सीडिंग के काम में अब भी गतिरोध बना हुआ है। ग्रामीण अंचल की तुलना में शहरी क्षेत्र के लोग कम संख्या में अपेक्षित जानकारी के साथ सामने आ रहे हैं। गांवों में लगाए जाने वाले राजस्व कैम्प में भी धनकटनी का सीजन शुरु हो जाने के कारण कम लोग उपस्थित हो रहे हैं। ताजा आंकड़ों के मुताबिक शेरघाटी अंचल में अभी 6 हजार 400 लैंड रिकार्डस में आधार सीडिंग का काम हुआ है। उन्होंने बताया कि जमीन के दस्तावेज अर्थात जमाबंदी के साथ आधार नम्बर और फोन नम्बर जोड़े जाने का भूधारियों को बहुत फायदा हासिल होगा। जमीन के झगड़ों पर काबू पाने में भी इससे सहुलियत होगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें