ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार गया612 सेंटर पर 2331 लोगों को मिला टेलीमेडिसीन सेवा के तहत डॉक्टरी परामर्श

612 सेंटर पर 2331 लोगों को मिला टेलीमेडिसीन सेवा के तहत डॉक्टरी परामर्श

612 सेंटर पर 2331 लोगों को मिला टेलीमेडिसीन सेवा के तहत डॉक्टरी परामर्श 612 सेंटर पर 2331 लोगों को मिला टेलीमेडिसीन सेवा के तहत डॉक्टरी...

612 सेंटर पर 2331 लोगों को मिला टेलीमेडिसीन सेवा के तहत डॉक्टरी परामर्श
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,गयाSat, 16 Apr 2022 08:50 PM

आयुष्मान भारत हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर की चौथी वर्षगांठ पर टेलीमेडिसीन सेवा

ग्रामीण क्षेत्र के मरीजों ने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र आकर लिया चिकित्सीय परामर्श

गया, निज संवाददाता

16 अप्रैल। जिला में शनिवार को आयुष्मान भारत हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर की चौथी वर्षगांठ के अवसर पर ई-संजीवनी टेलीमेडिसीन सेवा प्रदान की गयी। इस क्रम में जिला के सभी प्रखंडों के लगभग 600 से अधिक हेल्थ सेंटर पर टेलीमेडिसीन सेवा की मदद से 2331 मरीजों को इलाज संबंधी परामर्श तथा दवा दी गयी। हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर ई-टेलीमेडिसीन द्वारा अधिक से अधिक लोगों को लाभ दिलाने के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग लिया गया। ई-संजीवनी टेलीमेडिसीन सेवा के माध्यम से नजदीकी स्वास्थ्य केंद्रों पर पहुंचे मरीजों के स्वास्थ्य के बारे में हब में तैनात चिकित्सकों द्वारा जानकारी ली गयी। वहीं एएनएम द्वारा स्वास्थ्य केंद्रों पर आने वाले मरीजों का रक्तचाप, वजन व अन्य प्रकार की जांच की गयी।

संबंधित खबरें

क्या है टेलीमेडिसीन

टेलीमेडिसीन स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने की एक उभरती हुई टेक्नोलॉजी है। जो कि डॉक्टर्स और मेडिकल स्टाफ को इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी का उपयोग करते हुए कुछ दूरी पर बैठे रोगी की जांच करने और उसका उपचार करने में मदद करता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन "डब्ल्यूएचओ" के अनुसार, टेलीमेडिसीन सेवा वह सेवा है जिसमें अनुभवी स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा तकनीक का उपयोग करके ऐसे स्थानों पर रोगों की जांच, उपचार , बीमारियों की रोकथाम, मूल्यांकन आदि की सेवा प्रदान करना जहां रोगी और डॉक्टर के बीच काफी दूरी होती है। मरीजों को वीडियो कॉल के माध्यम से चिकित्सकीय पराशर्म दी जाती तथा ऑनलाइन प्रीस्क्रिप्शन दिया जाता है।

संजीवनी साबित हो रही है टेलीमेडिसीन

जिला स्वास्थ समिति के डीपीएम निलेश कुमार ने बताया जिला में 612 हेल्थ सेंटर्स पर 2331 लोगों को टेलीमेडिसिन सेवा के तहत डॉक्टर से इलाज संबंधी परामर्श मिला व आवश्यक जाँच की गयी बताया कि टेलीमेडिसीन सेवा की मदद से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को बहुत अधिक दूर इलाज के लिए नहीं जाना पड़ता और वे अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर मौजूद एएनएम की मदद से ऑनलाइन दूर बैठे चिकित्सक से इलाज करा पाते हैं। उन्हें आवश्यक दवाई दी जाती है। सुदूरवर्ती गांव के लोगों को इस सेवा से काफी लाभ मिलने लगा है। यह सेवा उन लोगों के लिए वरदान साबित हो रही है जो साधन, समय एवं पैसे के अभाव में बड़े-बड़े स्वास्थ्य संस्थानों के विशेषज्ञ चिकित्सकों से परामर्श या उपचार लेने में असमर्थ रहते हैं।

epaper