अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीथेशेरीप

बेलागंज। नगर प्रखंड के बीथोशरीफ बाजार में बिना लाइसेंस के संचालित एक दवा दुकान पर मंगलवार की शाम औषधि निरीक्षक अशोक कुमार यादव के नेतृत्व में छापामारी की गयी। इस मामले को लेकर औषधि निरीक्षक अशोक कुमार यादव के आवेदन पर चाकन्द थाने में देर रात एफआईआर दर्ज की गयी है। थानाध्यक्ष जितेन्द्र कुमार ने बताया कि औषधि निरीक्षक अशोक कुमार यादव के लिखित बयान पर सुनील कुमार पिता नारायण दास ग्राम गन्नू विगहा के खिलाफ औषधि अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज की गयी है। दो दर्जन से अधिक बच्चे डायरिया से आक्रांतबेलागंज। प्रखंड के गोबराहा टोला में लगभग-दो दर्जन महिला-पुरुष और बच्चे डायरिया से आक्रांत हैं। डायरिया पीड़ित ग्रामीण सरकारी चिकित्सा सुविधा नहीं मिलने के कारण अपना इलाज चाकन्द बाजार सहित अन्य चिकित्सकों से करवाने को विवश हैं। अर्जुन यादव और राजेश केवट ने बताया कि पिछले एक पखवारे से गांव में डायरिया रोग का प्रकोप जारी है। जिसकी सूचना बेलागंज सीएचसी को दिया गया। लेकिन, सूचना के बाद भी सीएचसी के कोई भी कर्मी गांव में आने की भी जरूरत महसूस नहीं की। रोग से आक्रांत लोगों में राजेश केवट और उसकी पत्नी, फोनू यादव की पत्नी, योगेन्द्र यादव का बेटा, मतंगी केवट की पत्नी सहित अन्य कई लोग शामिल हैं।बेलागंज। एसी/एसटी एक्ट के विरोध में 6 सितम्बर को भारत बंद के दौरान बेलागंज में के सियाराम कॉलनी में एक खास जाति के लोग रहते हैं। इस कॉलनी में घुस कर पुलिस ने महिला व नाबालिग बच्चों के साथ अमानवीय व्यवहार और बुरी तरह से पिटाई की गयी थी। स्थानीय लोग इसके खिलाफ चरणबद्ध तरीके चला रखा है। इस घटना ने बोधगया में आयोजित भाजपा के प्रदेश कार्यसमिति भाग लेने आए शीर्ष नेतृत्व को संज्ञान लेने पर मजबूर कर दिया।भाजपा नेता सह अधिवक्ता मुकेश कुमार ने उप मुख्यमंत्री से मिलकर बेलागंज में पुलिस प्रशासन के द्वारा किये गए जघन्य कार्रवाई की पूरी घटनाक्रम से अवगत हुए। श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा के नेतृत्व में पार्टी का एक टीम गठन किया जिसे सियाराम कॉलनी में जाकर पीड़ितों से मिलकर घटनाओं की पूरी जानकारी प्राप्तकर उसकी जानकारी उपलब्ध कराने को कहा साथ उप मुख्यमंत्री ने उनसे बेलागंज से मिलने गए लोगों को आश्वस्त किया कि निर्दोष लोगों लोगों को न्याय अवश्य मिलेगा। इस घटना में दोषी पाए जाने वाले किसी भी पदाधिकारी को बख्शा नहीं जाएगा। इसके बाद मंत्री के नेतृत्व में गठित टीम ने सियाराम कॉलनी में पीड़ितों मिलने पहुंची जहां मंगलवार को जेल से बाहर आये बच्चों ,पीड़ित महिलाओं के दर्द को देख सुन कर दंग रह गए। मौके लोगों ने स्थानीय बीडीओ बबलू कुमार के फेसबुक से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व उप मुख्यमंत्री के बारे में आपत्तिजनक पोस्ट व 6 तारीख को पुलिसियाजुर्म की वीडियो फुटेज को दिखाया जिस पर मंत्री सिन्हा विफ़रते हुए जिलाधिकारी से मोबाइल पर बात करते हुए कहा इस बेलागंज प्रखण्ड विकास पदाधिकारी के द्वारा फेसबुक पर जो सरकार के मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट किया है उसका साथ ही बेलागंज में हुई घटना की पूरी जांच कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है। मंत्री सिन्हा ने बताया किसी कीमत पर जातीय भेदभाव करने वाले पदाधिकारी व आमाजिक तत्व बख्शे नहीं जाएंगे। इस मौके पर विधान परिषद सदस्य सुरजनन्दन कुशवाहा, विवेक ठाकुर, लाल बाबू प्रसाद (पूर्व विप सदस्य), चितरंजन शर्मा, श्यामदेव पासवान(पूर्व विधायक)धीरेन्द्र कुमार सिंह,ब्रजेश रमन,मुकेश कुमार,राजेंद्र राम,कुमार सत्यशील, बबून जी,रामविनय शर्मा,रविन्द्र कुमार शर्मा, राजेश कुमार, अशोक कुमार,गुंजन शर्मा, मुन्ना जी,नागेंद्र कुमार सहित दर्जनों कार्यकर्ता व ग्रामीण उपस्थित थे!

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: