DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपीएससी में दरभंगा के लाल उत्सव को 14वां रैंक

यूपीएससी में दरभंगा के लाल उत्सव को 14वां रैंक

शहर के मिश्रटोला के लाल उत्सव कौशल ने यूपीएससी की परीक्षा में 14वां स्थान लाकर केवल अपने माता-पिता का नाम रौशन नहीं किया, बल्कि उसकी सफलता से पूरे जिलेवासियों का सिर गर्व से ऊंचा हो गया है। खास बात रही कि उत्सव ने दो बार यूपीएससी की परीक्षा में भाग लिया और दोनों बार सफलता हासिल कर ली। पहले प्रयास में उसने 500वां स्थान प्राप्त किया था। उसका चयन ऑडिट व सर्विस विभाग में हुआ था। वह फिलहाल शिमला में ट्रेनिंग कर रहा है। पहले प्रयास में ही सफलता मिलने के बावजूद वह अपने रैंक से संतुष्ट नहीं था। ट्रेनिंग के साथ ही उसने परीक्षा के लिए दिन-रात जागकर तैयारी की। उसका ऊंचा मनोबल व जीवन में कुछ कर दिखाने की ललक उसके काम आयी। सीएम सांइस कॉलेज के अंग्रेजी विभाग के अध्यक्ष डॉ. केके सिन्हा व स्टेट बैंक की अधिकारी आभा सिन्हा के इस होनहार पुत्र ने जीसस एंड मेरी अकादमी से सीबीएसई की दसवीं की परीक्षा 90 प्रतिशत से ज्यादा अंक से पास की थी। दसवीं की परीक्षा पास करने के बाद वह दिल्ली चला गया। वहां आईआईटी की कोचिंग करने के साथ ही पंजाबी बाग स्थित टैगोर इंटरनेशनल स्कूल से उसने सीबीएसई की 12वींं की परीक्षा पास की। इसके बाद आईआईटी की परीक्षा में भी परचम लहराने के बाद उसे आईआईटी, बंगलुरु में दाखिला मिला। वहां से उसने इलेक्ट्रिकल इंजीनियर की डिग्री हासिल की। हालांकि उसका मकसद शुरू से आईएएस बनने का था। अथक मेहनत से उसने यह मकसद भी पूरा कर लिया। पढ़ाई के अलावा उत्सव को पुराने सिक्के इकठ्ठा करने का शौक है। वह बेहतर स्केटिंग करता है। ‘हिन्दुस्तान से बातचीत में कहा कि अपने माता व पिता की प्रेरणा से ही वह यह मुकाम हासिल कर सका। देश की सेवा करना उसका एकमात्र मकसद है। वहीं उसके पिता डॉ. सिन्हा ने भी अपने पुत्र की सफलता पर खुशी का इजहार किया। उन्होंने बताया कि वह फिलहाल शहर से बाहर हैं। ट्रेन में उन्हें अपने बेटे की सफलता की खबर मिली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:UPSC ranks 14th in Darbhanga's Red Festival