ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार दरभंगासमाजवाद के पुरोधा थे उमा बाबू : विनय

समाजवाद के पुरोधा थे उमा बाबू : विनय

हायाघाट/सुरहाचट्टी, हिटी। राजनीतिक और सामाजिक क्षेत्र में बहुसंख्यक लोग स्वार्थ के लिए राजनीति करते...

समाजवाद के पुरोधा थे उमा बाबू : विनय
हिन्दुस्तान टीम,दरभंगाFri, 01 Dec 2023 01:30 AM
ऐप पर पढ़ें

हायाघाट/सुरहाचट्टी, हिटी। राजनीतिक और सामाजिक क्षेत्र में बहुसंख्यक लोग स्वार्थ के लिए राजनीति करते हैं लेकिन कुछ ऐसे अपवाद भी होते हैं जो जाति-धर्म से ऊपर उठकर जनमानस के बीच उदाहरण बनने के लिए जाने जाते हैं। प्रो. उमाकांत चौधरी मिथिला की राजनीति में ऐसे ही अपवाद व्यक्ति थे।
ये बातें गुरुवार को समता पार्टी के संस्थापक सदस्य तथा सीएम नीतीश कुमार के करीबी रहे प्रो. उमाकांत चौधरी की पुण्यतिथि पर उनके पैतृक गांव हायाघाट के विशनपुर में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में उनके कनिष्ठ पुत्र तथा जदयू के प्रदेश प्रवक्ता व बेनीपुर विधायक प्रो. विनय कुमार चौधरी ने उनकी आदमकद प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए कही।प्रो. चौधरी ने कहा कि जिस समय में बिहार जातीय संकीर्णता और राजनीतिक दिशाहीनता के बीच घूम रहा था उस समय उन्होंने समरस समाज की मजबूती के लिए नीतीश कुमार की नेतृत्व क्षमता को मिथिला में एक अलग पहचान दी। आज का जेडीयू उसी का प्रतिफल है।

बैद्यनाथ चौधरी बैजू ने कहा कि एक शिक्षाविद तथा राजनेता के रूप में उन्होंने जिस रास्ते का चयन किया आज के सामाजिक जीवन में उस पदचिन्हों पर चलना ही उनकी सच्ची श्रद्धांजलि होगी। जदयू के प्रदेश उपाध्यक्ष शंभूनाथ झा ने कहा कि वे हमेशा कहा करते थे कि जीवन में उपलब्धियों के लिए कभी भी सिद्धांतों से समझौता नहीं करना चाहिए। जदयू के राज्य परिषद सदस्य एजाज अख्तर खान रूमी और बेनीपुर प्रमुख चौधरी मुकुंद कुमार राय ने उमा बाबू को शुचिता का प्रतीक बताया। मौके पर बेनीपुर के मुख्य पार्षद मो. एकबाल, बेनीपुर राजद प्रखंड अध्यक्ष नीलाम्बर यादव,राम शंकर सिंह थे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें