DA Image
24 अक्तूबर, 2020|2:01|IST

अगली स्टोरी

घाट पर लगी रस्सी अधेड़ के लिए बन गयी काल

default image

पूर्वी अंचल के तिलकेश्वर घाट पर नाव आरपार करने के लिए लगायी गयी रस्सी बुधवार को छोटकी कोनियां निवासी नाविक सियाराम मुखिया (48) के लिए काल बन गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सियाराम अपनी मोटर संचालित नाव से भूसा लाने फुलतौरा की ओर जा रहे थे। इसी बीच तिलकेश्वर घाट पर नाव आरपार करने के लिए लगी रस्सी से नाविक टक्करा नाव पर लगी पंप सेट पर गिरते हुए नदी में जा गिरा। नाव पर सवार अन्य लोगों ने अचेतन हालत में उसे पानी से निकाला। उसे इलाज के लिए फुलतौरा लेजाया गया। लेकिन बीच रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। इधर, मृतक के परिजनों में जहां कोहराम मचा वही गांव में मातमी सन्नाटा पसरा रहा। ग्रामीण श्री लाल मुखिया सहित अन्य लोगों ने बताया कि सियाराम नाव चला कर अपने परिवार का भरण-पोषण करता था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The rope on the pier became a time for the middle aged