Never underestimate back pain - पीठ के दर्द को कभी नहीं करें नजरअंदाज DA Image
18 नबम्बर, 2019|10:38|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीठ के दर्द को कभी नहीं करें नजरअंदाज

पीठ के दर्द को कभी नहीं करें नजरअंदाज

बिहार ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन, सर्राफ ऑर्थो एवं स्पाइन सेंटर तथा स्पाइन सोसाईटी के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को दरभंगा ऑपरेटिव स्पाइन कोर्स 2017 व पीजी ऑर्थोपेडिक अपडेट का आयोजन किया गया। डीएमसी के डॉ. एच एन यादव ऑडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम में देश के कई प्रख्यात स्पाइन सर्जन के साथ राज्य के कई आर्थोपेडिक व न्यूरो सर्जन मौजूद रहे। आयोजन में विख्यात चिकित्सकों की ओर से विभिन्न मेडिकल कॉलेज के पीजी छात्रों को नई तकनीक की जानकारी दी गई। मौके पर मौजूद चिकित्सकों के अनुसार हमारी जनसंख्या के 80 फीसदी लोग विभिन्न कारणों से पीठ दर्द से ग्रसित हैं। इसके कई कारण है। यह उम्र से संबंधित संक्रमण, पैदाइशी व चोट लगने के कारण हो सकता है। कार्यक्रम के शुरूआत में विभिन्न मॉडल्स पर सर्जरी कर के दिखाई गई। इसमें नवोदित पीजी छात्रों को अभ्यास कराया गया। इस कार्यशाला का उद्घाटन इंडियन स्पाइन सर्जन एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. राम चड्डा ने किया। वहीं डॉ. अभिषेक अनु ने कहा कि इस तरह की शैक्षणिक गतिविधियां समय-समय पर जारी रहेगी। इससे स्पाइन सर्जरी के बारे में फैली हुई भ्रांतियों को दूर किया जा सकता है। दरभंगा में इसका इलाज उपलब्ध हो जाने से मरीजों की परेशानी काफी हद तक कम हुई है। आयोजन के क्रम में विचार गोष्ठी का आयोजन हुआ। इसमें स्पाइनल सर्जन डॉ. राम चड्डा, डॉ. एच एस छाबड़ा, डॉ. अभिजित पवार, डॉ. ए के राय ने अपने विचारों व मेडिकल क्षेत्र में हो रहे नये अनुसंधानों से छात्रों को अवगत कराया। मौके पर डॉ. एस एन सर्राफ सहित कई चिकित्सक व छात्र मौजूद रहे। डीएमसीएच ऑडिटोरियम में रविवार को सेमिनार को संबोधित करते चिकित्सक डॉ. विशाल कुनदानी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Never underestimate back pain