ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार दरभंगा पंच कुण्डीय गायत्री महायज्ञ को ले बैठक

पंच कुण्डीय गायत्री महायज्ञ को ले बैठक

केवटी। बाढ़ पोखर पर आगामी माह 20 फरवरी से 23 फरवरी 2022 तक शांतिकुंज




पंच कुण्डीय गायत्री महायज्ञ को ले बैठक
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,दरभंगाMon, 27 Dec 2021 03:41 AM
ऐप पर पढ़ें

केवटी। बाढ़ पोखर पर आगामी माह 20 फरवरी से 23 फरवरी 2022 तक शांतिकुंज हरिद्वार के तत्वावधान में आयोजित होने वाले तीन दिवसीय पंच कुण्डीय गायत्री महायज्ञ एवं संस्कार महोत्सव को लेकर रविवार को उक्त स्थल स्थित मध्य विद्यालय परिसर में अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रखंड ईकाई की बैठक शेष नारायण झा की अध्यक्षता में हुई। बैठक में गायत्री महायज्ञ की तैयारी को लेकर कलश शोभा यात्रा, यज्ञशाला, पंडाल, मंच निर्माण,साउंड तथा रौशनी आदि व्यवस्था के बिन्दुओं पर चर्चा हुई और आवश्यक पहल की योजना बनाई गई। महा यज्ञ के सफल संचालन को लेकर नौ सदस्यी कमिटी का गठन किया गया। यज्ञ व्यवस्था का मार्गदर्शन राम प्रसाद यादव तथा शिव नारायण राय करेंगे।

सत्संग से होता है सर्वांगीण विकास:

दरभंगा। मानव जीवन में कथा-सत्संग से ही सर्वांगीण विकास संभव है। भारतीय सनातन धर्म में अनेकों शास्त्रोक्त कथा का आयोजन किया जाता है किंतु भागवत कथा सत्संग अपने आप में अपूर्व है। भागवत कथा से न केवल मानव का अपितु प्रेतात्माओं का भी उद्धार हो जाता है। ये बातें लक्ष्मीसागर के धर्मपुर स्थित दुर्गा स्थान में आयोजित भागवत कथा में आचार्य हेमचंद्र ठाकुर ने कही। उन्होंने कहा कि परमात्मा बाहरी आडंबर एवं प्रदर्शन से कभी प्रसन्न नहीं होते हैं। वह तो सच्चे प्रेम के भूखे हैं। जिनके हृदय में प्रेम होता है उन्हें पाषाण में भी परमात्मा दिखाई देते हैं और प्रेम के अभाव में मूर्ति में भी पत्थर दिखाई देता है। भगवान को हम क्या अर्पित करते हैं, वह अधिक महत्व नहीं रखता। महत्व इस बात का होता है कि हम कैसे अर्पित करते हैं।

विधानसभा चुनाव 2023 के सारे अपड्टेस LIVE यहां पढ़े