DA Image
26 अक्तूबर, 2020|7:41|IST

अगली स्टोरी

मखाना अनुसंधान केंद्र का किया निरीक्षण

मखाना अनुसंधान केंद्र का किया निरीक्षण

सांसद गोपाल जी ठाकुर ने मंगलवार को दिल्ली मोड़ स्थित मखाना अनुसंधान केंद्र का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि मखाना की उपज सिर्फ मिथिला में ही होती है। इसमें प्रचुर मात्रा में आयरन एवं कैल्शियम है। यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है।

अटल जी के प्रधामंत्रित्व काल में 28 फरवरी 2002 को राष्ट्रीय मखाना अनुसंधान केंद्र, दरभंगा की स्थापना हुई थी। इस केंद्र का राष्ट्रीय दर्जा कांग्रेस की सरकार ने वर्ष 2005 हटा दिया। राष्ट्रीय दर्जा वापस लेने के बाद इस केन्द्र में निदेशक का पद और मिलने वाला फंड दोनों समाप्त हो गया। बीते लोकसभा सत्र (बजट सत्र) में उन्होंने इस केंद्र को पुन: राष्ट्रीय दर्जा देने की मांग की।

निरीक्षण के क्रम में केंद्र के प्रधान वैज्ञानिक एवं प्रभारी अध्यक्ष डॉ. इंदु शेखर सिंह ने लोकसभा में प्रश्न उठाने के लिए सांसद को धन्यवाद दिया। सांसद के साथ मृदा वैज्ञानिक डॉ. मनोज कुमार, औद्यानिकी वैज्ञानिक डॉ. बीआर जना, मत्स्य वैज्ञानिक शैलेन्द्र राउत, वरीय तकनीकी सहायक अशोक कुमार, तकनीकी सहायक धीरज प्रकाश सहित भाजपा के मंडल अध्यक्ष रजनीश झा, ब्रह्मानंद यादव, अजय राम, जिला मीडिया प्रभारी अमलेश झा, पंकज झा, उज्ज्वल कुमार, गौरव कुमार मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Makhana Research Center inspected