DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीएमसी प्राचार्य कार्यालय में की तालाबंदी

डीएमसी प्राचार्य कार्यालय में की तालाबंदी

अपनी मांगों के समर्थन में राज्य पारा मेडिकल छात्र संघर्ष समिति (डीएमसीएच) के बैनर तले पारा मेडिकल छात्र यूनियन की अनिश्चिकालीन हड़ताल बुधवार को दरभंगा मेडिकल कॉलेज प्राचार्य कार्यालय परिसर में दूसरे दिन भी जारी रही।

मांगों पर विचार नहीं किए जाने से आक्रोशित पारा मेडिकल छात्रों ने प्राचार्य कार्यालय में ताला जड़ दिया। इसके बाद उनलोगों ने राज्य सरकार व कॉलेज प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। एक ओर पारा मेडिकल छात्रों का आंदोलन व दूसरी ओर दरभंगा मेडिकल कॉलेज के पांचवी सेमस्टर के छात्रों के आक्रोश के कारण प्राचार्य कार्यालय परिसर में दिन भर अफरा तफरी मची रही।

संघर्ष समिति के अध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार सुमन ने बताया कि उनलोगों ने अपनी आठ सूत्री मांगों को लेकर उप मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री को ज्ञापन सौंपा था। उनलोगों ने उनलोगों की समस्याओं का समाधान करने का आश्वासन दिया था। काफी समय गुजर जाने के बावजूद उनलोगों की मांगों पर न तो स्वास्थ्य मंत्री ने ध्यान दिया और न ही समस्याओं के समाधान में कॉलेज प्रशासन ने कोई कदम नहीं उठाया।

अनिश्चितकालीन धरना पर डटे पारा मेडिकल छात्रों ने कहा कि एकेडमिक कैलेंडर जारी करने की उनलोगों की प्रमुख मांग है। इसके अलवा बिहार पारा मेडिकल काउंसिल का गठन करने, बिहार पारा मेडिकल कोर्स में अध्यनरत छात्रों को नर्सिंग छात्रों के तर्ज पर पारिश्रमिक दने, छात्रावास सहित अन्य सुविधाएं मुहैया कराने, सभी मेडिकल कॉलेजों में पारा मेडिकल डिग्री कोर्स की शरुआत करने, पुरुष नर्सों को भी प्रशिक्षण देने की व्यवस्था करने आदि मांगे जब तक पूरी नहीं की जाती हैं तब तक उनलोगों का आंदोलन जारी रहेगा। अनिश्चितकालीन धरना में पवन कुमार, पंकज कुमार, सुमंत, मनीष, प्रमोद, नागेन्द्र, श्रवण, निशा कुमारी, अमृता कुमारी, राधा कुमारी, सोमन कुमारी आदि शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lockout of DMC Principal s office