DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घायलों को सहायता देगा विधिक सेवा प्राधिकार

हिन्दुस्तान की खबर का असर दिखाई पड़ने लगा है। तेजाब से हमले में एक ही परिवार के पांच झुलसे शीर्षक से 5 जून को खबर प्रकाशित होने के बाद राज्य विधिक सेवा प्राधिकार पटना ने संज्ञान लेते हुए जिला विधिक सेवा प्रधिकार दरभंगा के सचिव को तेजाब हमले से पीड़ितों को कानूनी सहायता उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। बेनीपुर पारा विधिक स्वंय सेविका अर्चना झा को पीड़ितों से मिलकर मामले की जानकारी लेकर कार्यालय को प्रतिवेदित करने को कहा गया है।

बेनीपुर के प्राधिकार सहायक कुमार गौरव ने बताया कि राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली द्वारा नालसा योजना 2016 के तहत प्राधिकार एसिड हमलों से पीड़ितों को क्षतिपूर्ति हेतु विभिन्न विधिक प्रावधानों एवं योजनाओं का लाभ देने के लिए विधिक सहायता एवं प्रतिनिधित्व प्रदान करती है।

उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं में पीड़ित को क्षतिपूर्ति हेतु बिहार पीड़ित प्रतिकर स्कीम भी बनाई गयी है। इसके तहत पीड़ित को चिकित्सा आदि सुविधा तत्काल एक लाख रूपये उपलब्ध कराने का प्रावधान है। भादवि की धारा 326(क) के अनुसार एसिड हमला करने वाले अभियुक्त को दस वर्ष से लेकर आजीवन कारावास की सजा एवं जुर्माना से भी दंडित किया जाता है।

यह धारा दण्ड विधि (संशोधन) अधिनियम 2013 द्वारा जोड़ा गया है। बहेड़ा थाना क्षेत्र के रमौली गांव में 3 जून की शाम तेजाब फेककर सुरेन्द्र यादव, अरूण यादव, रिंकू कुमार यादव, राजन कुमार यादव, अविनाश कुमार को घायल कर दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Legal Services Authority will assist the injured