DA Image
28 जनवरी, 2021|9:53|IST

अगली स्टोरी

जदयू ने नामांकन में गड़बड़ी की जांच की मांग

default image

दरभंगा। हिन्दुस्तान टीम

ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय में स्नातक प्रथम खंड के नामांकन में अनियमितता की ओर कुलपति प्रो. सुरेन्द्र प्रताप सिंह की पहल का बिहार जदयू शिक्षा प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. राम मोहन झा ने स्वागत किया है। डॉ. झा ने रविवार को कहा कि स्नातक प्रथम खंड की प्रथम सूची में जितने भी प्रतीक्षा सूची में छात्र-छात्रा थे उनका नामांकन कर लिया गया जबकि सूची में शामिल कंफर्म छात्र-छात्राओं का नामांकन नहीं किया गया। इतना ही नहीं, दूसरी सूची जारी कर उसे रद्द कर दिया गया तथा पुन: सूची प्रकाशित की गयी जिससे छात्र-छात्राओं मे भ्रम की स्थिति उत्पन्न हो गई और प्रथम खंड की नामांकन प्रक्रिया में बड़े पैमाने पर मेधा सूची को दरकिनार कर नामांकन कर लिया गया। डॉ. झा ने कुलपति से मांग की है कि इसमें दोषी अधिकारी, कर्मचारी तथा अंगीभूत और संबद्ध महाविद्यालयों के प्राचार्यों तथा नामांकन लेने वाले कर्मचारियों की संलिप्तता की जांच करते हुए दोषी अधिकारी, कर्मचारी तथा प्राचार्य पर कार्रवाई करते हुए सुधार करने की प्रक्रिया की जाय। उन्होंने मिथिला विश्वविद्यालय में एक लाख 28 हजार सीटें खाली होने को चिन्ता का विषय है। डॉ. झा ने कुलपति का ध्यान इस ओर भी आकृष्ट कराया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:JDU demands inquiry into nomination disturbances