DA Image
6 अप्रैल, 2021|6:20|IST

अगली स्टोरी

समस्तीपुर में खुली गुमटी पर पोकलेन से टकरायी जानकी एक्सप्रेस

default image

रोसड़ा/हसनपुर (समस्तीपुर) | हिन्दुस्तान टीम

समस्तीपुर-खगड़िया रेलखंड के रुसेराघाट (रोसड़ा) व नयानगर रेलवे स्टेशन के बीच बखरी ढाला पर शनिवार सुबह सहरसा की ओर जा रही जानकी एक्सप्रेस एक पोकलेन मशीन टकरा गई। इससे पोकलेन मशीन के साथ-साथ ट्रेन का इंजन भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। वहीं पोकलेन का चालक गंभीर रूप से जख्मी हो गया। जिसे आननफानन में स्थानीय लोगों ने रोसड़ा अनुमंडल अस्पताल पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने उसकी गंभीर हालत देखते हुए बेहतर चिकित्सा के लिए डीएमसीएच रेफर कर दिया। प्रत्यशदर्शियों के अनुसार फाटक खुला होने के कारण पोकलेन मशीन गुमटी पर पहुंच गई इसी दौरान जानकी एक्सप्रेस आ गई। घटना के बाद गेटमैन फरार हो गया।

हादसे के बाद समस्तीपुर रेल मंडल के एडीआरएम जफर आलम घटनास्थल पर पहुंचे और हादसा के कारणों की जांच की। ट्रेनों का परिचालन भी दोपहर करीब डेढ़़ बजे तक बाधित रहा। जख्मी पोकलेन चालक झारखंड के हजारीबाग जिला के बरही थाना क्षेत्र के चतुरई निवासी गोकुल महतो का पुत्र मनोज महतो (35) बताया गया है। इधर, घटना के बाद घटनास्थल पर अफरातफरी का माहौल उत्पन्न हो गया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जोरदार धमाके की आवाज सुन स्थानीय लोग बदहवास अवस्था में दौड़ पड़े। वहीं ट्रेन में सवार यात्रियों में भी अफरातफरी मच गई। सभी नीचे उतरकर भागने लगे। स्थानीय लोग क्षतिग्रस्त ट्रेन इंजन व बोगी की तरफ दौड़े, हालांकि यह संयोग ही था कि इस हादसे की चपेट में कोई यात्री नहीं आया, जिससे बड़ा हादसा टल गया। काफी देर बाद धीरे-धीरे स्थिति सामान्य हुई।

बताया गया है कि यह हादसा सुबह करीब 8.15 बजे हुआ। घटना की जानकारी ट्रेन के ड्राइवर व गार्ड ने नजदीकी रेलवे स्टेशन रुसेरा घाट को दी। सूचना मिलते ही हसनपुर सीओ आनन्दचंद्र झा, बीडीओ दुनियालाल यादव, जीआरपी थानाध्यक्ष केदार प्रसाद, हसनपुर थानाध्यक्ष चंद्रकांत गौड़ी, आरपीएफ के एसआई चंदन कुमार सिंह, आरएन प्रसाद दलबल के साथ घटनास्थल पहुंचे। वहीं रेलवे के इंजीनियरिंग व मेंटेनेंस डिपार्टमेंट की टीम भी पहुंच गयी।

उधर, घटना के बाद मौका पाकर गेटमैन फरार हो गया। अधिकारियों ने जब गेटमैन को तलब किया तो वह अपने कक्ष से गायब था। उसे निलंबित कर दिया गया है। इस बीच एडीआरएम जफर आलम भी घटनास्थल पर पहुंच गए। उन्होंने घटनास्थल पर हर पहलुओं की बारीकी से तहकीकात की और मौजूद कर्मियों से जानकारी हासिल की।

मंगाया गया रिलीफ इंजन : घटना के करीब डेढ़ घंटे बाद समस्तीपुर से रिलीफ इंजन मंगाया गया, जिसके बाद जानकी एक्सप्रेस को वापस रुसेरा घाट लाया गया। इस बीच घटनाटस्थल के समीप ट्रैक को दुरुस्त करने का काम चलता रहा। वहीं पोकलेन मशीन को ट्रैक के समीप से हटाया गया। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि रेलवे ट्रैक का बिजली खम्भा व उसका तार भी क्षतिग्रस्त हो गया। जिस कारण डीजल इंजन मंगवाकर 11:55 बजे रुसेरा घाट रेलवे स्टेशन से जानकी एक्सप्रेस को रवाना किया गया।

बयान...

प्रथम दृष्टया लापरवाही मानते हुए गेटमैन को निलंबित कर दिया गया है। साथ पूरे घटनाक्रम की जांच के लिए अधिकारियों की एक टीम बनायी गई है। जांच रिपोट आने के बाद ही घटना का खुलासा हो पाएगा।

- अशोक माहेश्वरी, डीआरएम, समस्तीपुर मंडल।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Janaki Express collided with Pokallen on open kiosk in Samastipur