DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  दरभंगा  ›  गांवों में बहाल हो अस्पताल व एम्बुलेंस सेवा
दरभंगा

गांवों में बहाल हो अस्पताल व एम्बुलेंस सेवा

हिन्दुस्तान टीम,दरभंगाPublished By: Newswrap
Thu, 27 May 2021 05:11 PM
गांवों में बहाल हो अस्पताल व एम्बुलेंस सेवा

सिंहवाड़ा | कोविड-19 को देखते हुए गांव में अस्पताल एवं एंबुलेंस सेवा सहित लॉक डाउन की अवधि में गरीबों को अनाज एवं पेंशन देने की मांग करते हुए खेतिहर मजदूर यूनियन, किसान सभा और केंद्रीय ट्रेड यूनियन से जुड़े कार्यकर्ताओं ने कंसी में प्रतिरोध प्रदर्शन किया। अपनी मांगों के समर्थन में कार्यकर्ताओं ने घंटों नारेबाजी की। कोविड की गाइडलाइन को पालन करते हुए सीपीएम कार्यकर्ताओं ने देव शरण पासवान के नेतृत्व में मार्च निकाला। सीपीएम के जिला सचिव अविनाश कुमार ठाकुर मंटू ने कहा कि सरकार पूरी आबादी को कोरोना वैक्सीन देना शुरू करें। अस्पतालों में दवा, वेंटीलेटर, ऑक्सीजन, आवश्यक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करावे। सभी परिवारों को प्रति महीना 10 किलो अनाज मुफ्त में दिया जाए। लॉकडाउन के वजह से बेरोजगार हुए दिहारी मजदूर, रिक्शा, ऑटो एवं ई रिक्शा चालको सहित सभी मजदूरों को दस हजार रुपए प्रतिमाह दिया जाए। खेतिहर मजदूर यूनियन के जिला मंत्री दिलीप भगत ने केंद्र एवं राज्य सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि सरकार किसानों एवं गरीबों के हितों की अनदेखी कर रही है। मंहगाई पर रोक, डीजल पेट्रोल, रसोई गैस की कीमत आधा करने की मांग की गई। किसानों का गेहूं एमएसपी दर पर खरीद की मांग वक्ताओं ने की। जनवादी नौजवान सभा के नेता सुरेंद्र शाह ने कहा कि सभी स्वास्थ्य केंद्र दवा और डॉक्टर के अभाव में बंद है। किसी भी पंचायत को सेनीटाइज नहीं कराया गया है। सीटू नेता वीरेंद्र झा, दुर्गानंद ठाकुर, सुजीत कुमार झा, लालन ठाकुर, ओमप्रकाश सिंह, उप मुखिया रामविलास महतो आदि ने सभा को संबोधित किया। हनुमाननगर : किसान विरोधी कानून की वापसी और एमएसपी की मांग के समर्थन में बुधवार को भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रव्यापी काला दिवस मनाया। खेग्रामस प्रखंड अध्यक्ष सियाशरण पासवान के नेतृत्व में डीहलाही गांव में आयोजित प्रदर्शन में वक्ताओं ने गत 6 माह से जारी किसानों के आंदोलन का समर्थन करते हुए केंद्र सरकार की आलोचना की।

संबंधित खबरें