DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  दरभंगा  ›  जीईएस का ऑनलाइन वर्ग आज से

दरभंगा जीईएस का ऑनलाइन वर्ग आज से

हिन्दुस्तान टीम,दरभंगाPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 05:40 PM

जीईएस का ऑनलाइन वर्ग आज से

दरभंगा। ललित नारायण मिथिला विश्विद्यालय में 22 दिवसीय स्नातक तृतीय खंड के जीईएस ऑनलाइन कक्षा दो जून से शुरू होगी। प्रतिकुलपति प्रो. डॉली सिन्हा स्नातक तृतीय वर्ष के सामान्य विषय जीईएस की ऑनलाइन पढ़ाई का वर्गारंभ करेंगी और जीईएस के एक टॉपिक ‘साइंस एंड टेक्नोलॉजी इन इंडिया: लीडिंग साइंटिस्ट्स पर वर्ग लेंगी। इससे विश्वविदयलय के अधीन सभी अंगीभूत और सम्बद्ध महाविद्यालय जो दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर और बेगूसराय जिलों में हैं, के छात्र लाभान्वित होंगे। इस ऑनलाइन वर्ग के लिए पूरे 22 वर्ग निर्धारित किए गए हैं जो दो खंडों में विभाजित हैं। विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर विभाग तथा महाविद्यालय के शिक्षक अन्य 21 वर्ग तीन से 26 जून तक लेंगे। इन सभी वर्गों की वर्ग तालिका सभी प्रधानचार्यों दो भेज दी गयी है और विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर भी प्रकाशित की जा चुकी है। यह वर्ग गूगल मीट तथा यूटूब के माध्यम से चलेगा। इसके लिए छात्रों ने अपना रेजिस्ट्रेशन ऑनलाइन करा लिया है। अभी तक 5582 छात्रों ने इस वर्ग के लिए रेजिस्ट्रेशन कराया है। इस कार्यक्रम के कोऑर्डिनेटर प्रो. गोपी रमण प्रसाद सिंह, संकायध्यक्ष, समाज विज्ञान तथा वर्ग संचालन के प्रबंधक प्रो. केके साहु, विकास पदाधिकारी हैं। इस तरह के वर्ग विश्वविद्यालय में पहली बार आयोजित हो रहे हैं। इससे छात्र- छात्राएं काफी उत्साहित हैं। यह जानकारी सामाजिक विज्ञान संकायाध्यक्ष प्रो. गोपी रमण प्रसाद सिंह ने मंगलवार को दी है।

मृत शिक्षक-कर्मियों के परिवार को मिलेगी सहयता:

दरभंगा। ललित नारायण मिथिला प्रशासन हाल के दिनों में कोरोना या अन्य कारणों से मृत शिक्षक-कर्मचारियों को त्वरित गति से सहायता राशि उपलब्ध करायेगा। कुलसचिव प्रो. मुश्ताक अहमद ने मंगलवार को विश्वविद्यालय विभागाध्यक्षों एवं अंगीभूत कॉलेजों के प्रधानाचार्यों को मंगलवार को पत्र भेजकर यथाशीघ्र ऐसे कार्यरत या सेवानिवृत्त शिक्षक- कर्मचारियों के संबंध में विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराने का अनुरोध किया है ताकि त्वरित गति से अग्रेतर कार्रवाई कर उनके परिवार को राशि भुगतान कराया जा सके। कुलपति प्रो. सुरेन्द्र प्रताप सिंह ने मृतकों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए इस पुनीत कार्य में सहयोग की अपेक्षा व्यक्त की है।

संबंधित खबरें