DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  दरभंगा  ›  टीका लेने के बाद से कम हो गया कोरोना संक्रमण का डर

दरभंगाटीका लेने के बाद से कम हो गया कोरोना संक्रमण का डर

हिन्दुस्तान टीम,दरभंगाPublished By: Newswrap
Sat, 12 Jun 2021 04:11 AM
टीका लेने के बाद से कम हो गया कोरोना संक्रमण का डर

दरभंगा। कोरोना को हराना है तो टीका अवश्य लें। जब तक टीकाकरण नहीं हो जाए, चैन से नहीं बैठें। यह कहना है उन लोगों का जिन्होंने कोरोना को हराने के लिए टीका लेने का निश्चय किया। उन्होंने कहा कि टीका लेने के बाद संक्रमण का डर काफी कम हो गया है। टीकाकरण के बाद किसी तरह की परेशानी नहीं हुई।

वैश्विक महामारी के इस भीषण समय में एकमात्र कोरोना वैक्सीन ही सहारा है। टीकारण के बाद हम लोग खुद को सुरक्षित महसूस करने लगे हैं। इसके अलावा अन्य कोई मजबूत विकल्प अभी तक सामने नहीं आया है। हमारे पूरे परिवार ने टीकाकरण कराया है। इससे किसी को भी किसी तरह की परेशानी महसूस नहीं हो रही है।

- डॉ. पुतुल सिंह।

दुनिया के अन्य देशों की तुलना में अपने देश में बनाई गई वैक्सीन से शीघ्रता से हम लोग अपने को सुरक्षा के दायरे में लाने में सफल हुए हैं। कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए हम लोगों ने शुरू में ही टीकाकरण करा लिया था। टीका लेने के बाद से अभी तक किसी भी प्रकार की कठिनाई नहीं हुई है। बल्कि हम लोग पहले से बेहतर महसूस कर रहे हैं।

- इन्दिरा कुमारी।

कोरोना की दूसरी लहर में जिला व राज्य में जिस तरह की स्थिति उत्पन्न हुई उसमें एकमात्र वैक्सीन को देखकर ही लोगों में सुरक्षा की भावना का संचार हुआ। हम लोग भी वैक्सीन लेकर अपने को काफी सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। पूरे जिलावासियों से अपील है कि वे निश्चित रूप से समय पर टीका लेकर सुरक्षित लोगों की कतार में शामिल हो जाएं।

- रंजना देवी।

गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष कोरोना वायरस से काफी लोग प्रभावित हुए। ऐसी स्थिति में वैक्सीन का दोनों डोज लेकर मैं अपने को काफी सुरक्षित महसूस कर रही हूं। मेरा मानना है कि वैक्सीन का दोनों डोज लेने वाले सभी लोग अन्य की तुलना में काफी सुरक्षित हैं। सभी लोगों को निश्चित रूप से निश्चित स्थान पर जाकर वैक्सीन लेना चाहिए।

- अंजना कुमारी।

परिवार सहित वैक्सीन का दोनों डोज लेने के बाद हम लोग खुद को काफी सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। मैं शहर व जिले के सभी लोगों से विनम्र अपील करती हूं कि वे निश्चित रूप से वैक्सीन का दोनों डोज लेकर किसी भी तरह की आशंका से अपने को सुरक्षित रखें। इससे समाज और राष्ट्र की भी मदद होगी। हर हाल में निर्धारित केंद्र तक पहुंच वैक्सीन का दोनों डोज लेकर सुरक्षित हो जाएं।

- डॉ. अलका रानी ।

संबंधित खबरें