ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार दरभंगाऊंचे दाम पर खाद खरीदने को विवश हो रहे हैं जिले के किसान

ऊंचे दाम पर खाद खरीदने को विवश हो रहे हैं जिले के किसान

लहेरियासराय। कृषि विभाग ने इस साल रबी फसल लगाने का जिले का लक्ष्य निर्धारित...

ऊंचे दाम पर खाद खरीदने को विवश हो रहे हैं जिले के किसान
हिन्दुस्तान टीम,दरभंगाThu, 30 Nov 2023 01:15 AM
ऐप पर पढ़ें

लहेरियासराय। कृषि विभाग ने इस साल रबी फसल लगाने का जिले का लक्ष्य निर्धारित कर दिया है। इस बार जिले में कुल एक लाख 10 हजार 254 हेक्टेयर में रबी फसल लगाने का लक्ष्य रखा गया है।
इसमें गेहूं के लिए 84 हजार 166 हेक्टेयर का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसी प्रकार मक्का के लिए 12 हजार 402 हेक्टेयर, तेलहन के लिए 5190 हेक्टेयर एवं दलहन के लिए 8215 हेक्टेयर का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। किसानों ने लक्ष्य के अनुरूप बुआई भी शुरू कर दी है, पर किसानों को पर्याप्त मात्रा में खाद नहीं मिल पा रही है। किसान एक दुकान से दूसरी दुकान पर भटकते रहते हैं लेकिन जितनी मात्रा में उनको खाद की आवश्यकता है, उतनी नहीं मिल पाती। खाद की किल्लत होने का कई खाद विक्रेता फायदा उठाने में लगे हुए हैं। खाद विक्रेता से ऊंची दाम पर खाद खरीदने के लिए किसान मजबूर हैं।

जिले में इस बार रबी फसल के लिए 32000 मीट्रिक टन यूरिया की आवश्यकता है। इसमें केवल अक्टूबर व नवंबर माह में ही किसानों को 14636 मीट्रिक टन यूरिया की आवश्यकता पड़ती है। नवंबर माह समाप्त होने वाला है, परंतु किसानों को अभी तक मात्र 6951 मीट्रिक टन यूरिया ही उपलब्ध हो पायी है। डीएपी की बात करें तो इस सीजन में आठ हजार मीट्रिक टन की आवश्यकता है। इसमें 1664 मीट्रिक टन डीएपी अभी तक उपलब्ध हो पायी है। गोविंदपुर के किसान शंभू चौधरी ने कहा कि खेत में गेहूं की बुआई करनी है। इसके लिए डीएपी लेने लहेरियासराय आए हैं। यहां दुकानदार मनमानी कीमत बोल रहे हैं। वहीं, हायाघाट के सोहन यादव ने कहा कि सरकारी स्तर पर खाद उपलब्ध नहीं हो पा रही है इसलिए बाजार में खरीदने आए हैं।

आवश्यकता के अनुरूप जिले के लिए कम खाद की आपूर्ति हुई है। विभाग को जल्द खाद आपूर्ति करने के लिए पत्र भेजा गया है। जल्द ही किसानों को पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध होना शुरू हो जाएगा। जहां तक ऊंचे दाम में खाद बिकने की बात है तो इसकी शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

-विपिन बिहारी सिन्हा, डीएसओ

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।