DA Image
21 अक्तूबर, 2020|8:09|IST

अगली स्टोरी

मांगों को लेकर किसान-मजदूरों ने कलेक्ट्रेट के समक्ष किया प्रदर्शन

default image

सीपीएम राज्य कमेटी के आह्वान पर विभिन्न मांगों के समर्थन में मंगलवार को बड़ी संख्या में किसान-मजदूरों ने कलेक्ट्रेट के समक्ष विशाल प्रदर्शन किया। प्रदर्शन का नेतृत्व सीपीएम राज सचिव मंडल सदस्य ललन चौधरी, श्याम भारती व जिला सचिव अविनाश ठाकुर कर रहे थे।

प्रदर्शनकारियों की मांगों में सीएए, एनआरसी और एनपीआर वापस लिया जाए, कृषि शिक्षा स्वास्थ्य खाद्य सुरक्षा कल्याणकारी योजनाओं के लिए केंद्रीय बजट में की गई कटौती वापस लिया जाए, जल जमीन हरियाली के नाम पर शहरों से गांव तक गरीबों के घरों झोपड़ियों को उजाड़ने पर रोक लगाया जाए, महंगाई पर रोक लगाया जाए, आरक्षण को समाप्त करने की साजिश पर रोक लगाया जाए, काबिज जमीन का पर्चा बेदखली पर रोक भूमिहीनों को जमीन व रोजगार, अन्याय और भ्रष्टाचार पर रोक के साथ-साथ समान काम का समान वेतन शिक्षकों को देने शामिल थे।

कलेक्ट्रेट के सामने मुख्य सड़क पर सीपीएम के जिला सचिव अविनाश ठाकुर मंटू की अध्यक्षता में सभा हुई। सभा को संबोधित करते हुए सीपीएम राज्य सचिव मंडल सदस्य ललन चौधरी ने ट्रंप की भारत यात्रा का विरोध करते हुए कहा कि असली मकसद सावा लाख के कृषि बाजार पर कब्जा करना मुख्य मकसद है। ट्रंप भारत का विरोधी रहा है। अभी भारत से विरोध और मोदी से यारी यह देश के लिए बहुत ही चिंताजनक बात है। सीपीएम राज्य सचिव मंडल सदस्य श्याम भारती ने कहा कि नरेंद्र मोदी की सरकार संविधान को समाप्त कर दलित आदिवासी पिछड़ो को मिल रहे आरक्षण को समाप्त करना चाह रही है। डॉ. अंबेडकर द्वारा दिया गया अधिकार पर हमला हो रहा है।

सभा को सीपीएम जिला सचिव मंडल सदस्य दिलीप भगत, बहादुरपुर प्रखंड सचिव रामसागर पासवान, हनुमाननगर प्रखंड सचिव सुधीर पासवान, बेनीपुर प्रखंड सचिव रामधनी झा आदि ने संबोधित किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Farmer-workers demonstrated in front of Collectorate on demands