ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार दरभंगाआगे बढ़ने के लिए पीछे मुड़कर नहीं देखें : कुलपति

आगे बढ़ने के लिए पीछे मुड़कर नहीं देखें : कुलपति

दरभंगा। ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय में गत माह संपन्न नैक मूल्यांकन में बी प्लस...

आगे बढ़ने के लिए पीछे मुड़कर नहीं देखें : कुलपति
हिन्दुस्तान टीम,दरभंगाFri, 08 Dec 2023 01:00 AM
ऐप पर पढ़ें

दरभंगा। ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय में गत माह संपन्न नैक मूल्यांकन में बी प्लस प्लस ग्रेड प्राप्त कराने में सहयोग के लिए विश्वविद्यालय परिवार के प्रति आभार जताते हुए कुलपति प्रो. सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने नैक पीयर टीम की रिपोर्ट आईक्यूएसी कोआर्डिनेटर डॉ. मो. ज्या हैदर को समर्पित की।
जुबली हॉल में मंगलवार को आयोजित बैठक में कुलपति प्रो. सिंह ने कहा कि कुलपति ने कहा कि यदि आगे बढ़ना है तो पीछे मुड़कर न देखें और नकारात्मक लोगों के साथ न रहें। प्रोत्साहन से लोग प्रेरित होते हैं, पर बहुत से लोग इसके अपवाद भी होते हैं। हमें पहले से मालूम था कि हम कहां हैं। बी प्लस प्लस ग्रेड हमें भविष्य में आगे बढ़ने का मार्ग प्रशस्त करेगा। हमें विभाग के शोध कार्यों, एक्सटेंशन एक्टिविटीज, इनोवेशन, न्यू आइडियास, आउटपुट, स्टूडेंट प्रोग्रेशन तथा आधारभूत संरचना आदि को बढ़ाने की जरूरत है।

कुलपति ने कहा कि विवि को प्राप्त नैक ग्रेड किसी एक व्यक्ति का नहीं, बल्कि प्रत्येक व्यक्ति का योगदान है। सभी लोगों ने अच्छा काम किया। विजेता बनने के लिए काम करने का ढंग अलग ही होता है और वह सकारात्मकता के साथ आगे बढ़ता है। उन्होंने बताया कि नैक पीयर टीम के सदस्यों की विस्तृत सूचना सिर्फ तीन पदाधिकारियों के पास उपलब्ध थी, पर किसी ने उसे सार्वजनिक कर किया। फलत: उनके मेल एवं मोबाइलों पर विवि की मनगढ़ंत और झूठी शिकायतें भेजी गई। साथ ही विवि में बना हुआ नया डीएसडब्ल्यू भवन, पार्क, फिजिक्स विभाग का ऑडिटोरियम और गांधी सदन आदि समय पर तैयार नहीं हो सके जो नैक की दृष्टि से सही नहीं हुआ।

वाणिज्य के पूर्व संकायाध्यक्ष प्रो. बीबीएल दास ने कहा कि नैक मूल्यांकन जटिल प्रक्रिया है जो 2015 की अपेक्षा काफी बदल गई है। वैसे अपेक्षाएं अधिक होती हैं, पर 2.78 स्कोर काफी होता है। इससे हमें आगे और गुणवत्ता में सुधार करने का मौका मिलेगा। आइक्यूएसी निदेशक डॉ. मो. ज्या हैदर ने कहा कि कुलपति प्रो. सिंह के मार्गदर्शन एवं नेतृत्व में हम लोगों ने बी प्लस प्लस ग्रेड हासिल कर बिहार के पारंपरिक विवि में सर्वश्रेष्ठ हो गए हैं। स्वागत प्रभारी कुलसचिव डॉ. कामेश्वर पासवान ने, संचालन प्रो. अशोक कुमार मेहता तथा धन्यवाद ज्ञापन कुलानुशासक प्रो. अजय नाथ झा ने किया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें