DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  दरभंगा  ›  चिकित्सकों ने ओपीडी का किया बहिष्कार
दरभंगा

चिकित्सकों ने ओपीडी का किया बहिष्कार

हिन्दुस्तान टीम,दरभंगाPublished By: Newswrap
Sat, 19 Jun 2021 04:20 AM
चिकित्सकों ने ओपीडी का किया बहिष्कार

दरभंगा | डॉक्टरों पर लगातार हो रहे जानलेवा हमले व बाबा रामदेव की ओर से एलोपैथ के संबंध में की गयी टिप्पणी के विरोध में शुक्रवार को शहर के चिकित्सकों ने सुबह 08.30 से 12.30 बजे तक ओपीडी का संचालन बंद रखा। इस दौरान उन्होंने विरोध प्रदर्शन भी किया। इस मौके पर दरभंगा आईएमए के चिकित्सकों ने अललपट्टी स्थित आईएमए हॉल में बैठक की। इसमें वक्ताओं ने अपने विचार रखे। आईएमए जिलाध्यक्ष डॉ. बीबी शाही ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी के समय भी चिकित्सकों और कर्मियों के प्रति हिंसक, अमानवीय व तिरस्कार भरे व्यवहार देखने को मिल रहे हैं। यह समाज व सरकार के लिए शर्मनाक है। सभी को आत्ममंथन की जरूरत है। उन्होंने आगाह किया कि ऐसी घटना से स्वास्थ्य कर्मियों का मनोबल निरंतर टूट रहा है। इसका आने वाले समय में घातक दुष्परिणाम हो सकता है। चूंकि अभी महामारी से हमारी लड़ाई जारी है। हमने जंग जीती नहीं है। ऐसे में न्यायपालिका को भी सख्त होने की जरूरत है। आईएमए के जिला सचिव डॉ. इन्तखाब आलम ने सरकार से अपील करते हुए कहा कि ऐसे मामले में सरकार, प्रसासन व न्यायालय को तत्परता के साथ त्वरित संज्ञान लेकर कार्यवाई शीघ्रता से करनी चाहिए। इस मौके पर आईएमए, दरभंगा की ओर से बाबा रामदेव द्वारा दिए गए वक्तव्यों के विरुद्ध प्रस्ताव लाया गया। इसका सभी वक्ताओं ने घोर निंदा करते हुए निंदा प्रस्ताव पास किया। उन्होंने कहा कि शहीद चिकित्सकों व ऐलोपैथिक चिकित्सा पद्धति का अपमान और टीकाकरण पर भ्रान्ति फैलाना तथाकथित बाबा की अज्ञानता, अदूरदर्शिता, अहंकार व अपने निजी व्यवसाय को आगे ले जाने की अति लोलुपता है। यह जनमानस को दिग्भ्रमित करने का प्रयास है। अन्य प्रमुख वक्ताओं में डॉ. रामबाबू खेतान, डॉ. आरके राजन, डॉ. भरत कुमार, डॉ. प्रवीण कुमार, डॉ. अरुण कुमार आदि दर्जनों चिकित्सक थे।

संबंधित खबरें