DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › दरभंगा › धरना प्रदर्शन स्थगित, कुलसचिव को सौंपा ज्ञापन
दरभंगा

धरना प्रदर्शन स्थगित, कुलसचिव को सौंपा ज्ञापन

हिन्दुस्तान टीम,दरभंगाPublished By: Newswrap
Wed, 07 Jul 2021 06:20 PM
धरना प्रदर्शन स्थगित, कुलसचिव को सौंपा ज्ञापन

दरभंगा, निज प्रतिनिधि

सरकार के अनलॉक-4 में सार्वजनिक संस्थान पर किसी भी आयोजन पर रोक को देखते हुए बुधवार के धरना प्रदर्शन का कार्यक्रम स्थगित करते हुए अपने दो सूत्री मांगों को लेकर संबद्ध महाविद्यालय संघर्ष समिति के अध्यक्ष डॉ राम मोहन झा के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल कुलसचिव तथा प्रॉक्टर से मिला और ज्ञापन देकर दोनों विन्दुओं पर अपना पक्ष रखा। ज्ञापन में संबद्ध महाविद्यालयों में कार्यरत तृतीय एवं चतुर्थ वर्गीय कर्मचारियों का पद सृजन करने तथा राज्यादेश एवं न्यायादेश के आलोक में संबद्ध महाविद्यालयों द्वारा आंतरिक श्रोत से प्राप्त राशि का 70 प्रतिशत वेतन मद में खर्च नहीं करने वाले प्राचार्यों तथा सचिवों पर मुकदमा दर्ज करखने हेतु कहा गया। प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि वर्षों से कार्यरत शिक्षकेत्तर कर्मचारी बंधुआ मजदूर की तरह काम कर रहे हैं। अनुदान में भी भेदभाव बरता जा रहा है। सभी संबद्ध महाविद्यालयों में कार्यरत शिक्षकेत्तर कर्मचारियों की सूची शासी निकाय से अनुमोदन कराकर मंगवाया जाए तथा विश्वविद्यालय इसे स्वीकृति प्रदान करे। साथ ही 2019 न्यायादेश, राज्यादेश एवं विश्वविद्यालय के आदेश के वावजूद आंतरिक श्रोत से प्राप्त राशि का 70 प्रतिशत वेतन के रूप में नहीं खर्च करने वाले प्राचार्यों तथा सचिवों पर मुकदमा दर्ज किया जाए अन्यथा अगस्त माह में उच्च न्यायालय पटना में रिट दायर कर संबद्ध महाविद्यालय के प्राचार्यों तथा सचिवों सहित विश्वविद्यालय को भी पार्टी बनाया जाएगा। कुलसचिव तथा प्राक्टर द्वारा आज चार बजे सभी संबद्ध महाविद्यालयों को पत्र भेजकर उपर्युक्त बिन्दुओं पर अविलंब जानकारी मंगाकर उपयुक्त कार्रवाई करने का आश्वासन दिया गया। प्रतिनिधिमंडल में अध्यक्ष डॉ. राम मोहन झा, सीनेटर प्रो. राम सुभग चौधरी, प्रवक्ता प्रो. ज्योति रमण झा, महासचिव डॉ. सुरेश राम, डॉ. कुशेश्वर सहनी, प्रो. नरेश राय, प्रो. मदन कुमार यादव, तृतीय वर्गीय कर्मचारी रघुनाथ शर्मा एवं चतुर्थ वर्गीय कर्मचारी पुन्या नंद यादव एवं भरत यादव शामिल थे।

14 तक भुगतान नहीं होने पर होगा आंदोलन:

दरभंगा। कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय सेवानिवृत्त कर्मचारी संघ की बैठक बुधवार को रघुनंदन लाल कर्ण की अध्यक्षता में हुई। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि विश्वविद्यालय खाते में 6 करोड़ 40 लाख रुपये पेंशनर्स समाज का बैंक में जमा रहने के बावजूद भी पेंशनर्स समाज को एसीपी, एमएसीपी एवं चिकित्सा भत्ता का भुगतान नहीं किया जा रहा है। इस पर पेंशनर्स समाज ने क्षोभ व्यक्त किया है। पेंशनर्स समाज ने मांग की है कि 14 जुलाई तक अगर उक्त राशि का भुगतान पेंशनर्स समाज को नहीं की जाती है तो बाध्य होकर किसी भी दिन आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे जिसकी सारी जवाबदेही विश्वविद्यालय प्रशासन की होगी। (नि.प्र.)

संबंधित खबरें