अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दरभंगा मेडिकल कॉलेज में जलजमाव के बाद क्लास सस्पेंड

दो दिनों से हो रही बारिश से दरभंगा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल तैरने लगा है। ओल्ड लेडीज हॉस्टल के निचले तल्ले में पानी के प्रवेश कर जाने से कमरों को खाली करा दिया गया है। निचले तल्ले में रहने वाली छात्राओं ने पहले तल्ले के कमरों में शरण ली है। प्राचार्य कार्यालय परिसर में भी भीषण जलजमाव हो गया है। जलजमाव के कारण शनिवार को कक्षाओं को सस्पेंड करना पड़ा। अधिकांश छात्रावास पानी से घिर चुके हैं। छात्राओं को आम जरूरत की सामग्री बाहर से लाने में काफी परेशानी हो रही है। डॉक्टर्स कॉलोनी में भी जलजमाव हो गया है। अधिकांश क्वार्टर में पानी प्रवेश कर चुका है। जलनिकासी की पर्याप्त व्यवस्था नहीं रहने के कारण डॉक्टर व छात्रों को काफी मुसीबत झेलनी पड़ रही है। डीएमसीएच में जलजमाव से मरीजों को झेलनी पड़ी फजीहत उत्तर बिहार के सबसे बड़े चिकित्सा संस्थान में लचर जलनिकासी व्यवस्था होने के कारण शनिवार को डॉक्टर, कर्मचारी व मरीजों को काफी फजीहत झेलनी पड़ी। दो दिनों से हो रही बारिश ने नगर निगम को जलनिकासी व्यवस्था का आयना एक बार फिर दिखा दिया। अस्पताल के मेडिसिन विभाग, शिशु रोग विभाग, सर्जरी विभाग, रेडियोलॉजी विभाग आदि परिसरों में लबालब पानी के भरे रहने से मरीजों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी। अपने बीमार परिजनों को गोद में उठाकर कई परिजन मेडिसिन विभाग पहुंचे। वहां के आइसीसीयू तक पहुंचने में भी मरीजों को परेशानी हुई। अल्ट्रासाउंड व एक्सरे के लिए मरीजों को वैतरनी पार करनी पड़ी। परिसर में भीषण जलजमाव के कारण कई मरीज इलाज के बिना ही अस्पताल से लौट गए। अधीक्षक कार्यालय परिसर में भी जलजमाव हो गया है। अस्पताल अधीक्षक डॉ. संतोष कुमार मिश्रा ने बताया कि जलजमाव के कारण डॉक्टर व कर्मियों को काम करने में परेशानी हो रही है। बावजूद मरीजों को बेहतर सेवा देने का पूरा प्रयास किया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Class suspension after submergence in Darbhanga Medical College