ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार दरभंगाजाले बवाल मामले में अग्रिम जमानत याचिका खारिज

जाले बवाल मामले में अग्रिम जमानत याचिका खारिज

लहेरियासराय। मधुबनी लोस चुनाव के दौरान जाले के देवरा बंधौली के एक बूथ पर...

जाले बवाल मामले में अग्रिम जमानत याचिका खारिज
हिन्दुस्तान टीम,दरभंगाWed, 19 Jun 2024 12:30 AM
ऐप पर पढ़ें

लहेरियासराय। मधुबनी लोस चुनाव के दौरान जाले के देवरा बंधौली के एक बूथ पर फर्जी मतदान करने के आरोप में चार आरोपितों की गिरफ्तारी की गयी थी। इसके बाद जाले थाने पर हंगामा कर चारों को पुलिस हिरासत से जबरन छुड़ा लिया गया था। इस मामले में आरोपितों की ओर से कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दाखिल की गयी थी। प्रथम अपर जिला व सत्र न्यायाधीश ने मंगलवार को याचिका को खारिज कर दिया।
न्यायालय ने इन सभी अभियुक्तों की गिरफ्तारी पर 18 जून तक रोक लगा रखी थी। सभी जमानत याचिकाओं पर सुनवाई के बाद उन्हें खारिज कर दिया गया। इस मामले में फर्जी तरीके से वोट डालने के लिए मतदान केंद्र पर पंक्ति में खड़े लोगों को पुलिस ने हिरासत में लेकर जाले थाने में कांड दर्ज किया गया। जाले थाने की हाजत से आरोपितों को जबरन छुड़ाने के मामले में प्राथमिकी दर्ज की गयी थी।

इस केस के 21 आरोपितों की गिरफ्तारी पर गत सप्ताह रोक लगाई गई थी जो मंगलवार के आदेश से हट गयी। न्यायालय ने जाले थाना कांड सख्या 103/2024 के अभियुक्त परवेज आलम के पुत्र सनाउल्लाह, मो. हसन की पुत्री सादिया शेख और मो. इजहार की पुत्री जनत परवीन की अग्रिम जमानत याचिका और जाले थाना कांड सख्या 104/24 में इन तीनों की अग्रिम जमानत याचिका संख्या 691/24 को खारिज कर दिया।

वहीं, जाले थाना कांड 104/24 के अभियुक्त मो. इफ्तेखार, मो. अली, मो. सफिउल्लाह, मो. शादाब, मो. करनैन आलम, खादिम हुसैन, मुजर्तबा उर्फ आरजू, तपसिर इमाम उर्फ रिजवी, तारिक अनवर, मो. हुसैन, इबादुल्ला फैजी, मो. रियाज हुसैन, सैफुद्दीन, मो. जुबैर, मो. उमैर, जावेद इकबाल आरसी उर्फ आरसी इकबाल, फैसल अशरफ उर्फ मो. फैसल व निसार कुरैशी की अग्रिम जमानत याचिका संख्या 692/24 को भी खारिज कर दिया गया। पीपी नसरुद्दीन हैदर ने जमानत याचिका पर बहस करते हुए कहा कि अभियुक्त जमानत पाने के योग्य नहीं हैं।

प्राथमिकी संख्या 103 के सूचक वर्तमान में कृषि समन्वयक के पद पर जाले में पदस्थापित निर्भय कुमार का आरोप है कि ये लोग अपना मत गिराकर दूसरे का वोट गलत तरीके से गिराने का प्रयास कर रहे थे। प्राथमिकी के अभियुक्त दोबारा वोट गिराने के लिए लाईन में लगे हुए थे। जांच के क्रम में अर्धसैनिक बलों के सहयोग से उन्हें पकड़ा गया। यह घटना जाले विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 85 हक्कानिया मदरसा देवरा बंधौली के प्रांगण में गत 20 मई को घटित हुई थी।

इन पकड़ाये अभियुक्तों को पुलिस अभिरक्षा में जाले थाना भवन में ठहराया गया था। उन्हें कुछ लोगों ने थाना परिसर में घुसकर पुलिस बल के साथ बदसलूकी करते हुए पुलिस गिरफ्त से महिला और पुरुष को छुड़ाकर ले गए। इस गंभीर घटना को लेकर थाना अध्यक्ष विपिन बिहारी ने अपने बयान पर 24 नामजद और 130-140 अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध जाले थाने में केस दर्ज किया। इस मामले के 21 अभियुक्तों ने अग्रिम जमानत आवेदन दिया जिसे भी अदालत ने सुनवाई के बाद खारिज कर दिया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।