DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › दरभंगा › आदित्य वर्धन को साइंस में मिले 98.6 प्रतिशत
दरभंगा

आदित्य वर्धन को साइंस में मिले 98.6 प्रतिशत

हिन्दुस्तान टीम,दरभंगाPublished By: Newswrap
Sat, 31 Jul 2021 04:11 AM


आदित्य वर्धन को साइंस में मिले 98.6 प्रतिशत

दरभंगा। कोरोना महामारी व लॉकडाउन से परेशान छात्र-छात्राओं के इंतजार की घड़ी शुक्रवार को खत्म हुई। सीबीएसई ने अंतत: 12वीं का रिजल्ट प्रकाशित कर दिया। वुडबाईन इंग्लिश स्कूल की प्राचार्य डॉ. नसरीन नवाब ने विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि उनके स्कूल के 271 छात्र-छात्राओं ने परीक्षा में सफलता हासिल की है। रिजल्ट सौ फीसदी हुआ है। इसी स्कूल की रत्नप्रिया को 97 प्रतिशत अंक मिले हैं। इधर, दिल्ली मोड़ स्थित दरभंगा पब्लिक स्कूल के विशाल गौरव ने कहा कि उनके स्कूल की आकृति कर्ण वाणिज्य में 96.6 प्रतिशत अंक हासिल किये हैं। वहीं, इसी स्कूल की पल्लव ठाकुर को भी गणित में 96.6 प्रतिशत अंक मिले हैं। उधर, हैरो इंग्लिश स्कूल की ओशिका ठाकुर, रोज पब्लिक स्कूल के निशांत कुमार झा तथा पब्लिक स्कूल बेला के हरिओम शर्मा को विज्ञान में 96 प्रतिशत अंक मिले हैं। जीसस एंड मैरी एकेडमी तथा महात्मा गांधी शिक्षण संस्थान के ज्ञान उज्जवल एवं प्रियांशु ने सामान अंक 95.8 प्रतिशत प्राप्त किये हैं। विज्ञप्ति के अनुसार दरभंगा पब्लिक स्कूल की आकृति कर्ण को कॉमर्स में 96.6, कॉमर्स में ही रोज पब्लिक स्कूल की मुस्कान को 86, हैरो इंग्लिश स्कूल के सुमित कुमार लालवानी को 89, जीसस एंड मैरी अकैडमी के अनिकेत गुटगुटिया एवं रमन किशोर को समान अंक 91.6 प्रतिशत अंक प्राप्त करने में सफलता मिली है। महात्मा गांधी शिक्षण संस्थान के कुमार कार्तिकेय को कॉमर्स में 80.8 प्रतिशत अंक मिले हैं। डीएवी पब्लिक स्कूल की अवंतिका चौधरी को बायोलॉजी में 94.8 प्रतिशत अंक मिले हैं। विज्ञान में राजन कुमार चौधरी को 91.8 प्रतिशत अंक प्राप्त हुए हैं।

डॉक्टर बनने की तैयारी में जुटा आदित्य:

दरभंगा। वुडबाईन इंग्लिश स्कूल के टॉपर आदित्य वर्धन ने बायोलॉजी के साथ 98.6 प्रतिशत अंक प्राप्त कर नाम रोशन किया है। व्यवसायी सरोज कुमार के जेष्ठ सुपुत्र आदित्य वर्धन ने बताया कि उसकी सफलता में माता-पिता एवं उनके स्कूल के प्राचार्य डॉ. नसरीन नवाब एवं सभी शिक्षकों की प्रेरणा ने मार्गदर्शन का काम किया है। आदित्य ने बताया कि वह फिलहाल दरभंगा में ही रहकर मेडिकल की तैयारी करेगा। चिकित्सक बनकर राष्ट्र की सेवा करने की उसकी इच्छा है। इधर, उसकी सफलता पर परिवार के लोग फूले नहीं समा रहे हैं। परीक्षा परिणाम की जानकारी मिलते ही घर में उत्सव जैसा माहौल हो गया। मां-पिता ने उसे मुंह मीठा कराया। अन्य जानने वाले लोग भी बधाई दे रहे हैं।

संबंधित खबरें