DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

...जब छपरा में हुआ था दोबारा मतदान

सारण में लोस चुनावों का इतिहास दिलचस्प रहा है। चौक-चौराहों पर पिछले चुनावों की चर्चा होने लगी हैं। चर्चाओं के बीच 2004 के आम चुनाव की यादों को लोग भुलाये नहीं भूलते। चुनाव में छपरा संसदीय सीट के सभी बूथों पर दोबारा मतदान कराया गया था। चुनाव परिणाम आने तक निर्वाचित सांसद लालू प्रसाद रेल मंत्री बन चुके थे और निवर्तमान सांसद राजीव प्रताव रूडी पूर्व केन्द्रीय मंत्री थे।

2004 लोस चुनाव का पहला मतदान छपरा संसदीय क्षेत्र में 26 अप्रैल को हुआ था। इसमें धांधली की शिकायत तत्कालीन केंद्रीय मंत्री व सांसद राजीव प्रताप रूडी ने चुनाव आयोग में की थी। तब वे केन्द्र की वाजपेयी सरकार में वाणिज्य व उद्योग राज्य मंत्री थे। उन्होंने चुनाव आयोग को कुछ वीडियो क्लिप दिये थे, जिससे चुनाव में धांधली प्रमाणित हो रही थी। उनकी शिकायत की आयोग ने जांच करायी और पहले मतदान को अवैध घोषित कर दिया। सभी बूथों पर  31 मई को दोबारा मतदान हुआ। 2 जून को काउंटिंग हुई व राजद सुप्रीमो के सिर विजय का सेहरा चढ़ा। लालू प्रसाद उस चुनाव में छपरा के साथ मधेपुरा से भी सांसद निर्वाचित हुए थे। 

शिकायत की जांच करने आये थे केजे राव 
26 अप्रैल 2004 को  छपरा संसदीय क्षेत्र के मतदान में हुई गड़बड़ी की जांच करने चुनाव आयोग के प्रधान सचिव अनंत कुमार और विशेष सलाहकार केजे राव को आना पड़ा था। दुबारा मतदान कराने को लेकर वोटरों की इनके प्रति निगाहें टिकी थीं। दोनों लोगों ने क्षेत्र में घूम-घूमकर वोटरों से जानकारी ली थी। इस दौरान वोटरों के जरिये कई तथ्य भी जुटाये और उसके बाद आयोग को दोबारा मतदान कराने का सख्त फैसला लेना पड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:When voting again in Chhapra of Bihar