ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार छपरासशक्त स्थायी समिति के सात नामित सदस्यों को दिलाई गई पद व गोपनीयता की शपथ

सशक्त स्थायी समिति के सात नामित सदस्यों को दिलाई गई पद व गोपनीयता की शपथ

दस्यों को शपथ दिलाते नगर विकास व आवास विभाग के उप सचिव अजय कुमार, नगर आयुक्त सुमित कुमार, महापौर लक्ष्मी नारायण गुप्ता व उपमहापौर रागिनी कुमारी पेज तीन या पांच पर...

सशक्त स्थायी समिति के सात नामित सदस्यों को दिलाई गई पद व गोपनीयता की शपथ
default image
हिन्दुस्तान टीम,छपराMon, 24 Jun 2024 10:30 PM
ऐप पर पढ़ें

शपथ के बाद बोर्ड की बैठक व शहर के विकास व बजट को मिलेगी हरी झंडी
फोटो: 8- नगर आयुक्त के कार्यालय प्रकोष्ठ में नामित सदस्यों को शपथ दिलाते नगर विकास व आवास विभाग के उप सचिव अजय कुमार, नगर आयुक्त सुमित कुमार, महापौर लक्ष्मी नारायण गुप्ता व उपमहापौर रागिनी कुमारी

पेज तीन या पांच पर लगाएं

छपरा, एक संवाददाता। सशक्त स्थायी समिति के सदस्यों के शपथ लेने के बाद एक बार फिर नगर निगम में रौनक लौटने लगी है। नगर विकास व आवास विभाग के उपसचिव अजय कुमार ने नगर आयुक्त सुमित कुमार के कार्यालय प्रकोष्ठ में नामित सात सदस्यों को पद व गोपनीयता की शपथ सोमवार को दिलाई । मालूम हो कि पिछले दिनों महापौर लक्ष्मी नारायण गुप्ता ने अपने कैबिनेट में सात सदस्यों को नामित कर विभाग को नगर निगम के माध्यम से अनुशंसा प्रेषित कराया था। जिन सदस्यों ने महापौर लक्ष्मी नारायण गुप्ता, उपमहापौर रागिनी कुमारी व नगर आयुक्त सुमित कुमार की मौजूदगी में शपथ ली उनमें वार्ड 2 के नेहा देवी, वार्ड 05 के अजय साह, वार्ड 17 के उर्मिला देवी, वार्ड 26 के संजय प्रसाद, वार्ड 33 के कृष्ण कुमार शर्मा, वार्ड 37 के काजल कुमारी व वार्ड 39 के हेमंत कुमार के नाम शामिल हैं। हालांकि इस कैबिनेट के सात सदस्यों में तीन महिलाओं को भी जगह मिली है जबकि इस कैबिनेट में पिछले कैबिनेट के दो पुराने चेहरे कृष्ण कुमार शर्मा व हेमंत कुमार को भी रखा गया है। ये दोनों पूर्व मेयर राखी गुप्ता के कैबिनेट में भी रह चुके हैं। वहीं वार्ड 26 के पार्षद संजय प्रसाद 2007 से अपने वार्ड क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं । नगर परिषद के निर्वतमान चेयरमैन शोभा देवी के कैबिनेट में भी ये काम कर चुके हैं।

नगर मंत्रिमंडल अब लेगा शहर में विकास कराने का फैसला

सदस्यों के शपथ के बाद अब बोर्ड की बैठक भी जल्द होने की संभावना है। मालूम हो कि काफी दिनों से बोर्ड की बैठक नहीं होने कारण निगम क्षेत्र के विकास कार्यों की गति धीमी हो गई थी लेकिन कैबिनेट के गठन के बाद विकास की उम्मीद जग गई है।शहर के विकास के साथ बजट को भी हरी झंडी मिलेगी। पेयजल, नाला सफाई, सड़क सफाई, पुलिया व कुओं की मरम्मत, मार्केट कंपलेक्स का निर्माण के अलावा अन्य कार्यों में सदस्य फैसला ले सकते हैं।

कई पुराने चेहरों को इस बार नहीं मिली जगह

सशक्त स्थायी समिति के कई पुराने चेहरों को इस बार नगर सरकार के मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली। हालांकि वे इस बार भी मंत्रिमंडल में शामिल होने के लिए काफी प्रयास कर चुके हैं लेकिन उन्हें नहीं रखा गया। पुराने कैबिनेट के एक सदस्य ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि निगम का कैबिनेट काफी रिस्की है। बिना पढ़े फाइल पर जबरन हस्ताक्षर कराया जाता है। इस एवज में क्या मिलता है, यह सब लोग जानते हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।