DA Image
27 अक्तूबर, 2020|5:21|IST

अगली स्टोरी

हक-हकूक व मान-सम्मान के लिए शिक्षक हुवे गोलबंद:प्रो रणजीत

सारण शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से विधान पार्षद पद के लिए प्रो. रणजीत कुमार ने गुरुवार को चार सेट मे अपना नामांकन दाखिल किया। नामांकन के दौरान कमिश्नरी कैम्पस के बाहर छपरा, सीवान ,गोपालगंज ,पूर्वी चंपारण एवं पश्चिम चंपारण के सैकड़ों शिक्षक सामाजिक दूरी का पालन करते हुए नामांकन कार्यक्रम में शामिल हुए ।

नामांकन के बाद प्रो रणजीत ने पत्रकारों से कहा कि सारण शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के तहत आने वाले पांच जिलों में मतदाताओं का एकतरफा रुझान मेरे पक्ष में है। शिक्षक मतदाता पूरी तरह से बदलाव के लिए गोलबंद है। निवर्तमान विधान पार्षद की सत्ता परस्ती एवं अकर्मण्यता व सत्ताधारी दलों की शिक्षा एवं शिक्षक विरोधी नीति की वजह से नियोजित एवं वित्त रहित शिक्षक पूरी तरह से नाराज एवं आक्रोशित हैं। कई सालों से मैं शिक्षक हित में संघर्ष कर रहा हूं और नियोजित व वित्त रहित शिक्षकों की समस्याओं के समाधान के लिए दर्जनों पत्र सरकार को लिखा है। मीडिया के माध्यम से भी शिक्षकों की समस्याओं को सरकार के संज्ञान में लाया है। बिहार के किसी भी राजनीतिक दल के एजेंडे में शिक्षा एवं शिक्षक नहीं है। इसलिए बिहार में शिक्षा एवं शिक्षक की बदहाली चुनाव में राजनीतिक विमर्श का मुद्दा नहीं बन पाता है। दलिय अनुशासन की वजह से विधान पार्षद शिक्षकों की हकमारी के खिलाफ सदन में मजबूती एवं मुखरता से आवाज नहीं उठा पाते हैं। इसलिए मैं निर्दलीय चुनाव लड़ने का विचार किया है और शिक्षकों ने अपने हक हकूक एवं मान -सम्मान के लिए सामाजिक पहचान और राजनीतिक प्रतिबद्धता से ऊपर उठकर मेरे पक्ष में मतदान का निर्णय ले लिया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Teacher Golband for respect and honor Prof Ranjit