DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाढ़ राहत के लिए प्रखंड परिसर में आत्मदाह की कोशिश

बाढ़ पीड़ितों को राहत व पंचायत समिति सदस्यों को सम्मान नहीं मिलने नाराज अकबरपुर पंचायत की समिति सदस्या रीता देवी के पति जयराम राय ने गुरुवार को आत्मदाह की कोशिश की। प्रखंड कार्यालय परिसर में आत्मदाह करने जा रहे जयराम के साथ सीओ राजकुमार की झड़प भी हुई। हालांकि बीडीओ रमेश कुमार सिंह व अन्य ने उन्हें समझाबुझा कर आत्मदाह करने से रोक लिया। फिर उन्हें इलाज के लिए स्थानीय पीएचसी में ले जाया गया। दिन के करीब 11 बजे जयराम राय के साथ मटिहान के समिति सदस्य संजीव कुमार गुप्ता, प्रतापपुर के सुनील चौधरी, खानपुर के नसीमा खातून अन्य ग्रामीणों के साथ प्रखंड मुख्यालय पहुंचे। परिसर में पहुंचते ही जयराम ने अपने बदन पर किरासन उड़ेल लिया। प्रखंड कार्यालय परिसर में थोड़ी देर के लिए अफरातफरी मच गयी। सूचना मिली तो सीओ अपने चेम्बर से निकले और उन्हें रोकने की कोशिश करने लगे। इस दौरान अन्य समिति सदस्यों से उनकी तीखी झड़प हुई और हाथापाई की नौबत आ गयी। फिर सीओ अपने चेम्बर में चले गए। इसके बाद बीडीओ चेम्बर से निकले और स्थिति को संभाला। एक साल बाद भी बाढ़ पीड़ितों को नहीं मिले रुपये बीडीसी सदस्यों ने बताया कि पिछले वर्ष प्रखंड के कई गांव बाढ़ से प्रभावित हुए थे। ग्रामीणों की फसलें बह गयी थीं और लोगों के घरों में पानी घुस गया था। सीओ ने बाढ़ राहत की राशि पीड़ितों के बैंक खाते में भेजने का कई बार आश्वासन दिया। लेकिन आजतक स्थिति जस की तस बनी हुई है। सदस्यों का यह भी आरोप था कि उनकी इज्जत कोई पदाधिकारी नहीं करते। जनता की समस्या लेकर आने पर उनकी नहीं सुनी जाती। उनके जन प्रतिनिधि होन का औचित्य ही समाप्त हो गया है। वहीं सीओ ने बताया कि कि बाढ़ पीड़ितों की सही सूची की मांग पंचायत प्रतिनिधियों से कई बार की गई। लेकिन अब तक उसे उपलब्ध नहीं कराई गई। उनका यह भी कहना था कि बगैर पूर्व सूचना के आत्मदाह जैसा कदम उठा लिया गया, जो गलत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Suffer to try suicide in the block premises for flood relief