ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार छपरानहीं रहे कवि- साहित्यकार हरिकिशोर पांडेय, साहित्य जगत में शोक

नहीं रहे कवि- साहित्यकार हरिकिशोर पांडेय, साहित्य जगत में शोक

एं फोटो- नाम से- प्रो हरिकिशोर पांडेय छपरा, हमारे प्रतिनिधि। जगदम महाविद्यालय छपरा के पूर्व प्राचार्य व जयप्रकाश विश्वविद्यालय, छपरा के लब्धप्रतिष्ठ प्राध्यापक प्रो. हरिकिशोर पांडेय का निधन शहर के...

नहीं रहे कवि- साहित्यकार हरिकिशोर पांडेय, साहित्य जगत में शोक
हिन्दुस्तान टीम,छपराTue, 28 May 2024 09:30 PM
ऐप पर पढ़ें

भारत रत्न पंडित रविशंकर की आत्मकथा 'रागमाला' का किया हिन्दी अनुवाद
यात्रा, समय की रेत पर, वसंत अगराइल बा हैं प्रमुख रचनाएं

फोटो- नाम से- प्रो हरिकिशोर पांडेय

छपरा, हमारे प्रतिनिधि। जगदम महाविद्यालय छपरा के पूर्व प्राचार्य व जयप्रकाश विश्वविद्यालय, छपरा के लब्धप्रतिष्ठ प्राध्यापक प्रो. हरिकिशोर पांडेय का निधन शहर के श्यामचक स्थित उनके निवास पर सोमवार की देर रात हो गया। उनके आकस्मिक निधन का कारण लू लगने से हुआ तेज बुखार बताया जाता है। मंगलवार को उनका दाह संस्कार रिविलगंज में संपन्न हो गया। परिवार में तीन पुत्रियां, दामाद, पतोहू स्वस्तिका पांडेय, पोता दिव्यांशु व प्रियांशु हैं।

19 जनवरी 1936 को जन्मे श्री पांडेय अंग्रेजी, हिन्दी व भोजपुरी के बहुत बड़े अध्येता थे। 'यात्रा ' ,(कविता संग्रह), 'समय की रेत पर' (गद्य संग्रह), 'वसंत अगराइल बा' (भोजपुरी गद्य पद्य संग्रह) आदि उनकी महत्वपूर्ण कृतियां हैं। संगीतज्ञ भारत रत्न पंडित रविशंकर की आत्मकथा 'रागमाला' का उन्होंने हिन्दी अनुवाद किया था जिसे भारतीय ज्ञानपीठ ने प्रकशित किया है। उन्हें श्रद्धांजलि देने वालों में विधान पार्षद विधान पार्षद प्रो वीरेन्द्र नारायण यादव के अलावा डॉ अशोक द्विवेदी, डॉ बलभद्र, प्रो सदानंद शाही, डॉ प्रकाश उदय, प्रो जयकांत सिंह, डा. ब्रजभूषण मिश्र, प्रो लाल बाबू यादव, प्रो पृथ्वीराज सिंह, डॉ. प्रभाकर पाठक, डॉ.तैयब हुसैन पीड़ित, डॉ. सुनील कुमार पाठक, प्रो उषा वर्मा, प्रो एच के वर्मा, प्रो सुधा बाला, सुनील कुमार तंग इनायतपुरी , दक्ष निरंजन शंभु, डॉ. .जौहर शाफियाबादी, पं शंभु कमलाकर, ज्योतिष पांडेय, डॉ अमरेन्द्र सिंह, उदय नारायण सिंह, सुहैल अहमद हाशमी, गौतम कुमार, प्रदीप सौरभा व अन्य प्रमुख हैं। नगर की कई साहित्यिक संस्थाओं की ओर से भी उन्हें नमन निवेदित किया गया है।

-

इनकोर पोर्टल से तेजी से आएंगे मतगणना के रुझान

मतगणना के लिए तकनीकी सहायकों को किया जा रहा है ट्रेंड

प्रशिक्षण के दौरान किया गया सीधा संवाद

फ़ोटो 17 कलेक्ट्रेट सभागार में मतगणना कार्य के लिए प्रशिक्षण देते एनआईसी के डीआईओ तारणी कुमार

न्यूमेरिक

04 जून को होना है मतगणना

02 संसदीय क्षेत्र की मतगणना

छपरा, नगर प्रतिनिधि।

आगामी चार जून को शहर के बाजार समिति प्रांगण में लोक सभा के दो संसदीय क्षेत्रों के होने वाले मतगणना कार्य को सामान्य एवं सुचारु रूप से संपन्न करने के लिए अभी से ही प्रयास तेज कर दिए गए हैं। जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह डीएम से मिले दिशा निर्देश के आलोक में मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में तकनीकी सहायकों को मतगणना कार्य से संबंधित कई अहम बातों की जानकारी एनआईसी के डीआईओ तारणी कुमार ने विस्तृत तरीके से दी। ट्रेनिंग के दौरान सीधा संवाद भी किया गया और प्रशिक्षणार्थियों के सवालों का जवाब दिया गया। डीआईओ ने कहा कि मतगणना से संबंधित कार्य एनआईसी के स्तर पर विकसित ई काउंटिंग सॉफ्टवेयर और ईसीआई के स्तर पर डेवलप इनकोर पोर्टल पर होगा।इनकोर पोर्टल के माध्यम से वोट काउंटिंग की राउंडवार जानकारी उम्मीदवारों, राजनैतिक दलों व आमजनता को उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। मतगणना केन्द्र में इसके लिए अलग से कम्प्यूटर ऑपरेटर व अधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है।

ऐसे होगा मतगणना स्थल पर काम

जिला पदाधिकारी अमन समीर के मुताबिक, इनकोर पोर्टल में सबसे पहले ईटीबीपीएस से प्राप्त डाक मतपत्रों की जानकारी चार जून को दर्ज की जाएगी। इसके लिए आयोग द्वारा जारी प्रपत्र स्कैन करके पोर्टल में अपलोड किए जाएंगे। ईटीपीबीएस डाक मतपत्र के सभी प्रपत्र अपलोड करने के बाद रिटर्निंग ऑफिसर द्वारा उन्हें मान्य कर दर्ज किया जाएगा। इनकोर पोर्टल में जानकारी दर्ज करने के लिए रिटर्निंग ऑफिसर को लॉगिन की सुविधा दी गई है। इसमें हर राउंड की मतगणना के बाद मतगणना टेबिल क्रमांक के अनुसार हर उम्मीदवार को मिले मतों की संख्या दर्ज की जाएगी। इसके बाद एक राउंड की गिनती समाप्त होने पर दर्ज पोर्टल में मतों की संख्या का प्रिंट आउट लेकर उसे रिटर्निंग अधिकारी को दिया जाएगा

जिसकी स्वीकृति के बाद उसे पोर्टल पर प्रदर्शित किया जाएगा।

गलती हुई तो एडिट आप्शन से आएगी सही जानकारी

बताया जाता है कि यदि किसी टेबल की ईवीएम की किसी भी कारण से मतों की गणना नहीं की जा रही है तो उसमें कुछ भी दर्ज नहीं होगा। साथ ही यदि किसी टेबल के मतों की जानकारी दर्ज करने में गलती हो गई है व आगे के चक्रों की मतगणना के परिणाम दिए जा चुके हैं तो रिटर्निंग ऑफिसर एडिट ऑप्शन से सही जानकारी दर्ज कर सकेंगे लेकिन जिस चक्र में गलती हुई है उसके बाद के सभी चक्रों की जानकारी तथा परिणाम पुनः देने होंगे। ईसीआई ने इनकोर पोर्टल में मतगणना की जानकारी दर्ज करने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर लेने को कहा गया है। यह भी कहा गया है कि जिस कमरे में जानकारी दर्ज की जाए वहां हाई स्पीड इंटरनेट कीनिर्बाध सुविधा आवश्यक होगी। साथ ही विद्युत आपूर्ति के लिए पावर बैकअप की व्यवस्था अनिवार्य रूप से रखनी होगी। किसी भी स्थिति में पावर सप्लाई बंद नहीं होनी चाहिए। मतगणना समाप्त होने के बाद इसी पोर्टल से उम्मीदवार के लिए प्रमाण पत्र भी जनरेट होगा। रिटर्निंग आफीसर के हस्ताक्षर होने के बाद इसे स्कैन करके पोर्टल में अपलोड करना होगा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।