DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तरैया में नर्सिंग होम पर डीआई का छापा

तरैया-देवरिया रोड में स्थित श्री राम लाइफ केयर नर्सिंग होम पर जिला औषधि निरीक्षक अभय शंकर के नेतृत्व में छापेमारी की गयी। दवा दुकान के लाइसेंस की मांग की गई तो जांच के अंतिम क्षण में लाइसेंस दिखाया गया। डीआई श्री शंकर ने बताया कि 35 ग्रुप की दवा के क्रय-विक्रय पर रोक लगा दी गई है। इधर छापेमारी की सूचना पाकर अन्य संचालक नर्सिंग होम बंद कर फरार हो गए। छापेमारी दल में सहायक औषधि नियंत्रक सरिता कुमारी, रमेश कुमार प्रेमी व अन्य शामिल थे। छापेमारी को लेकर नर्सिंग होम व निजी क्लीनिक संचालकों में हड़कंप मचा हुआ है। इधर कुछ निजी क्लीनिक के संचालक व चिकित्सकों ने तरैया रेफरल अस्पताल के प्रभारी के खिलाफ बयान दिया जिन्होंने अवैध नर्सिंग होम संचालकों व निजी क्लीनिक चलाने वालों की रिपार्ट प्रशासन को भेजी है। तरैया निवासी मुन्ना सिंह ने आरटीआई के तहत यहां संचालित वैध और अवैध नर्सिंग होम के बारे में जानकारी मांगी थी। इसी के आधार पर प्रभारी ने नोटिस भेज कर नर्सिंग होम व निजी क्लीनिक संचालकों से जानकारी मांगी पर नर्सिंग होम के संचालक व चिकित्सक डॉ आर के सिंह ने कहा कि प्राप्त नोटिस में 23 मई तक प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना था जबकि नोटिस 24 मई को मिली। बिना प्रमाण पत्र प्रस्तुत किये ही अवैध नर्सिंग होम घोषित करना अनुचित है। वही डॉ वकील राय ने कहा कि मुझे नोटिस मिली ही नहीं हैं। अस्पताल प्रभारी डॉ श्री नाथ प्रसाद ने तरैया में संचालित श्री राम नर्सिंग होम, पटना नर्सिंग होम, शिवम लाइफ केयर, त्रिमूर्ति नर्सिंग होम समेत कुछ डॉक्टरों को अवैध होने की जानकारी रिपोर्ट में दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dye raid on nursing home in Taraiya