DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मशरक अस्पताल में सड़ रहा एक ट्रक सैनिटरी पैड

मशरक में किशोरी स्वास्थ्य योजना पूरी तरह विफल साबित हुई है। मशरक सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में कचरे के ढेर की तरह सेनिटरी पैड अस्पताल में रखे हुए हैं जो अब सड़ने लगे हैं। पैड को मामूली कीमत पर आंगनबाड़ी व आशा कार्यकर्ताओं के माध्यम से बेचा जाना था। बिक्री की राशि जिला स्वास्थ्य केन्द्र को जमा करानी है। वर्ष 2015-16 में दो ट्रक पैड की आपूर्ति मशरक अस्पताल को जिला मुख्यालय से की गयी। इसे प्रति पैकेट पांच रुपये की दर से बेचना था। बिक्री के चार रुपये स्वास्थ्य केन्द्र में जमा होने थे। वर्ष 2015-16 में प्रखंड के अधिकांश स्कूलों में भी छात्राओं को किशोरी स्वास्थ्य योजना के तहत राशि का आवंटन नहीं मिल पाया और न ही स्वास्थ्य केन्द्र में उपलब्ध पैड ही मिला। स्वास्थ्य प्रबंधक ने बताया कि एक ट्रक सैनिटरी पैड की ब्रिकी की गयी। इस मद में प्राप्त एक लाख तीन हजार दो सौ रुपये जिला स्वास्थ कार्यालय में जमा कराये भी गये। वहीं चिकित्सा प्रभारी ए रहमान अंसारी ने बताया कि एक्सपायर होने के कारण बाकी पैड की बिक्री सुरक्षा के खयाल से नहीं कराई गयी। हालांकि एक ट्रक पैड की बिक्री के सवाल पर दोनों ने चुप्पी साध ली। विभाग की लापरवाही का नतीजा यह रहा कि एक तरफ सरकार की महत्वाकांक्षी योजना धरातल पर नहीं उतरी तो दूसरी तरफ विभाग को लाखों रुपये राजस्व का नुकसान उठाना पड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:A truck sanitary pad rotten in the Mushker Hospital