DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  बक्सर  ›  जिले में थम गई मौत की रफ्तार, महज 6 संक्रमित मिले

बक्सर जिले में थम गई मौत की रफ्तार, महज 6 संक्रमित मिले

हिन्दुस्तान टीम,बक्सरPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 11:00 AM
 जिले में थम गई मौत की रफ्तार, महज 6 संक्रमित मिले

बक्सर। निज संवाददाता

मामूली बढ़ोतरी के साथ कोरोना संक्रमण के आंकड़े में एक बार फिर उछाल आया है। एक दिन पूर्व कोरोना पॉजिटिव का दायरा सिमटकर एक अंक तक पहुंच गया था और कई दिनों से पॉजिटिव की संख्या में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही थी।

पिछले चौबीस घंटे के अंदर जिले में कुल 6 कोरोना संक्रमित चिन्हित किए गए हैं। इसी के साथ जिले में कोविड-19 मरीजों की संख्या बढ़ते हुए 8,282 तक पहुंच गई है। इस साल मार्च महीना में दूसरी लहर का प्रकोप शुरू हुआ था इसके बाद अप्रैल से संक्रमण की रफ्तार में तेजी आने लगी थी, लेकिन उतार-चढ़ाव के बीच संक्रमण दर काफी कमजोर पड़ गया है।

थम गई है मौत की रफ्तार

जिला प्रशासन द्वारा सोमवार को जारी दैनिक रिपोर्ट के मुताबिक गत चौबीस घंटे में कुल 6 नए संक्रमित मिले हैं। जबकि 32 मरीज कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हुए हैं। इसी के साथ एक्टिव संक्रमितों की संख्या मात्र 153 रह गई हैं। इसी के अलावा लगातार छठवें दिन किसी एक भी संक्रमित की मौत नहीं हुई है। हालांकि अभी तक कोरोना वायरस के संक्रमण से कुल 123 मरीज कोविड-19 बीमारी से मौत के शिकार हो चुके हैं। रिपोर्ट के अनुसार, जिले में अब तक 701576 सैंपल की जांच की गई है। इनमें से कुल 8,282 व्यक्ति पॉजिटिव तथा शेष सभी निगेटिव पाए गए हैं।

सदर प्रखंड में सबसे अधिक मिले संक्रमित

कोविड-19 संक्रमण की जांच कई जगहों पर की जा रही है। इसमें रेलवे स्टेशन व पीएचसी समेत अन्य सरकारी अस्पताल शामिल हैं। इनमें शहर समेत सदर प्रखंड में सबसे ज्यादा संक्रमित मिले हैं, जबकि दूसरे स्थान पर इटाढ़ी व तीसरे पायदान पर डुमरांव प्रखंड है। सदर प्रखंड में कुल 1606 तथा इटाढ़ी में कुल 787 पॉजिटिव चिन्हित किए गए हैं।

इन प्रखंडों के हैं नए पॉजिटिव :

30 मई को चिन्हित किए गए कुल पॉजिटिव अलग-अलग प्रखंडों से ताल्लुक रखने वाले हैं। इनमें सदर प्रखंड से एक तथा चौसा व चौगाईं प्रखंड क्षेत्र के एक-एक व्यक्ति हैं, जबकि रेलवे स्टेशन से तीन व्यक्तियों को पॉजिटिव पाया गया है।

वैक्सीन लेने के लिए लोगों को डीएम- एसपी ने किया जागरूक

बक्सर। जिला पदाधिकारी अमन समीर व पुलिस अधीक्षक नीरज कुमार सिंह ने संयुक्त रूप से राजपुर प्रखंड के अंतर्गत रसेन पंचायत के रसेन,छितेनडिहरा,मोहरिया गाँव का भ्रमण कर वैक्सीनेशन के प्रति लोगों की गलत धारणा व भ्रांति का पूर्ण रूप से निवारण किया गया। जिला पदाधिकारी महोदय ने लोगों को बताया कि उन्होंने स्वयं भी टीका का दोनों डोज लगवा लिया है और वह पूरी तरह से स्वस्थ हैं। उन्होंने बताया कि टीका के जरिए ही कोरोनावायरस से बचा जा सकता है।आम लोगों में वैक्सीनेशन के प्रति सकारात्मक व्यापक प्रचार-प्रसार करवाने का निर्देश प्रखंड विकास पदाधिकारी राजपुर को दिया गया। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र राजपुर के निरीक्षण के क्रम में जिला पदाधिकारी महोदय ने कोविड-19 जांच एवं कोविड-19 वैक्सीनेशन को अलग-अलग जगहों पर करवाने का निर्देश दिया।

घर-घर जाकर कोविड-19 के टीकाकरण के लिए लोगों को करें जागरूक : सीएस

- सिविल सर्जन ने महदह में टीका एक्सप्रेस का किया निरीक्षण

- कहा- कोविड के सामान्य नियमों का पालन करते हुए लोगों को दें टीका

बक्सर। हिटी

जिले में जोर शोर से टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। टीके के लिए स्थायी शिविर लगाने के साथ साथ टीका एक्सप्रेस के माध्यम से भी लोगों को टीका दिया जा रहा है। इस क्रम में टीकाकरण का अनुश्रवण करने हेतु सिविल सर्जन डॉ. जितेंद्र नाथ ने सदर प्रखंड स्थित महदह गांव में टीकाकरण का जायजा लिया। जहां पर टीका एक्सप्रेस के द्वारा 45 वर्ष व उससे अधिक उम्र के लाभार्थियों को टीकाकृत किया जा रहा था। इस दौरान सिविल सर्जन ने टीकाकरण टीम को कोविड-19 के सामान्य नियमों का पालन करते हुए लोगों को टीकाकृत करने का निर्देश दिया। साथ ही, स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों व एएनएम को निर्देश दिया कि जहां जहां टीका एक्सप्रेस जा रहा है, वहां के लोगों को पूर्व में ही इसकी सूचना दी जाए। जिससे लाभर्थी समय पर पहुंच कर अपना टीका ले सकें। साथ ही, अभियान को सफल बनाने के लिए घर-घर जाकर लोगों को जागरूक करते हुए टीके के लाभ के संबंध में भी बताएं। जिससे लोग टीका लेने के लिए प्रेरित हो सकें। इस दौरान बीएचएम सुशील कुमार व बीसीएम प्रिंस कुमार सिंह के साथ साथ स्वास्थ्य विभाग के अन्य कर्मी व स्थानीय ग्रामीण मौजूद थे।

ऑन द स्पॉट टीका की व्यवस्था की गयी है :

सिविल सर्जन में ग्रामीणों को बताया, टीका एक्सप्रेस के माध्यम से प्रखंडवार और पंचायतवार न केवल आम नागरिकों को टीकाकरण के लिए प्रेरित किया जा रहा है, बल्कि निर्धारित आयुवर्ग के लाभार्थियों के लिए ऑन-द स्पॉट टीका की व्यवस्था की गयी है। टीकाकरण कार्य के संचालन के लिए प्रत्येक रथ के साथ एएनएम और अन्य चिकित्सा कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। सिविल सर्जन ने बताया, वर्तमान समय में टीकाकरण ही वायरसजनित कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सबसे विश्वसनीय माध्यम है। इसलिए निर्धारित आयु वर्ग के प्रत्येक व्यक्ति को टीका अवश्य लेना चाहिए। साथ ही, अपने सगे संबंधियों को भी टीका लेने के लिए जागरूक करना चहिए। जिससे पूरे समाज को कोरोना संक्रमण के संभावित खतरे से बचाया जा सके। टीके की दोनों डोज लेने के बाद भी लोगों को मास्क पहनना और सामाजिक दूरी का पालन करना जरूरी है।

घर से बाहर दोहरा मास्क लगाकर निकलें :

सिविल सर्जन ने सरकार द्वारा लगाये गये प्रतिबंधों का अक्षरशः पालन करने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा, यह प्रतिबंध आपको कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए लगाये गये हैं। आवश्यक होने पर ही घर से बाहर दोहरा मास्क लगाकर निकलें। घर से बाहर निकलने के दौरान संयम बरतें व भीड़-भाड़ से बचें। इस बात को सभी को समझना होगा कि वह अपनी आवश्यकता का सामान लेने निकलें है न कि कोरोना से संक्रमित होने। आपके द्वारा बरती गई लापरवाही आप पर ही नहीं बल्कि आपके परिवार के अन्य सदस्यों पर भी भारी पड़ेगी। उन्होंने बताया, यदि किसी को कोरोना के शुरुआती लक्षण जैसे- सर्दी, खांसी, बुखार, स्वाद एवं सुगंध कम लगना, अत्यधिक थकान एवं कमजोरी आदि हो तो यथाशीघ्र अपने निकटतम सरकारी स्वास्थ्य केन्द्र पर जाकर कोरोना की जांच अवश्य कराएं। ताकि, यह सुनिश्चित हो सके कि ये लक्षण आपमें कोरोना के हैं अथवा नहीं।

संबंधित खबरें