ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार बक्सर कृषि बिल का विरोध में रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शन

कृषि बिल का विरोध में रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शन

बक्सर। हिन्दुस्तान संवाददाता पूरी तरह से चौकस रही। सभा में वक्ताओं ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से कोरोना लॉक डाउन में जब पूरा देश के घरों के दरवाजे बंद थे, सड़कें वीरान थीं, उसी दौरान कारपोरेट के...

 कृषि बिल का विरोध में रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शन
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,बक्सरFri, 19 Feb 2021 10:30 AM
ऐप पर पढ़ें

बक्सर। हिन्दुस्तान संवाददाता

अखिल भारतीय किसान संघर्ष समिति के आह्वान पर रेल रोको आंदोलन के तहत बक्सर किसान सभा के कार्यकर्ता दो बजे दिन से चार बजे शाम तक रेलवे ट्रैक पर बैठे रहे। इस दौरान किसान सभा ने मौके पर ही सभा का आयोजन किया। इससे कार्य क्रम को लेकर पुलिस पूरी तरह से चौकस रही।

सभा में वक्ताओं ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से कोरोना लॉक डाउन में जब पूरा देश के घरों के दरवाजे बंद थे, सड़कें वीरान थीं, उसी दौरान कारपोरेट के हित में तीन कृषि कानून देश किसानों व किसानी पर थोप दिए गये। वक्ताओं ने कहा कि इस थोपे गये कानून को किसान संगठन काला कानून मानते हैं। तीनों कानून की वापसी व फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानूनी दर्जा देने की मांग को लेकर बक्सर किसान संगठन की ओर से बक्सर रेलवे स्टेशन के डाउन लाइन पर दो घंटे तक विरोध - प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन को लेकर ट्रेनों के परिचालन पर खास असर नहीं पड़ा ।

सभा की अध्यक्षता जिला परिषद सदस्य केदार यादव ने किया। सभा को पूर्व सांसद तेज नारायण सिंह, ज्योतिश्वर सिंह, नागेंद्र मोहन, जगनारायण शर्मा, सुदर्शन शर्मा, लक्की जायसवाल, रामजी सिंह, प्रवींद्र कुमार, वंशनारायण सिंह, बबन सिंह, जितेंद्र राम, दिनेश सिंह, डॉ. रामनिवास सिंह आदि ने संबोधित किया।

epaper