DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › बक्सर › प्रेमचंद जयंती : प्रेमचंद के संघर्षों को जीवन में उतारने की दी प्रेरणा
बक्सर

प्रेमचंद जयंती : प्रेमचंद के संघर्षों को जीवन में उतारने की दी प्रेरणा

हिन्दुस्तान टीम,बक्सरPublished By: Newswrap
Sun, 01 Aug 2021 10:50 AM
प्रेमचंद जयंती :  प्रेमचंद के संघर्षों को जीवन में उतारने की दी प्रेरणा

बक्सर। हिन्दुस्तान संवाददाता

महर्षि विश्वामित्र महाविद्यालय के हिंदी विभाग की ओर से शनिवार को प्रख्यात उपन्यासकार मुंशी प्रेमचंद की 141वीं जयंती बड़े ही हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ. आशिक अली और डॉ. छाया चौबे, सहायक आचार्य हिंदी विभाग ने प्रेमचंद की प्रतिमा पर माल्यार्पण व दीप प्रज्ज्वलन कर किया। इसी क्रम में अंजली ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की।

हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ. आशिक ने प्रेमचंद के संघर्षों को जीवन में उतारने की प्रेरणा दी। वही डॉ. छाया ने कहा कि प्रेमचंद जीवन की हर चुनौती में साहस व अपने उसूलों पर खड़े रहकर सत्ता से समाज की हर बुराई से लड़ने का सबक देते हैं। उनके सामाजिक परिवर्तन को अब नए तरीके व तेवर से लड़ने का दौर यही है। हम सभी के अंदर सत्य की लौ के रूप में प्रेमचंद जिंदा रहेंगे।

कार्यक्रम में स्नातकोत्तर के अनेक छात्रों द्वारा प्रेमचंद के जीवन व कृतित्व पर प्रकाश डाला गया। प्रेमचंद की कहानी ‘बड़े घर की बेटी का मंचन राजेश, पूजा, मनीषा, ममता, प्रदीप व सुप्रिया द्वारा किया गया। उनके मंचन को मौजूद सभी लोगों ने खूब सराहा। मिथिलेश ने प्रेमचंद पर स्व रचित सुमधुर गीत प्रस्तुत कर लोगों का दिल जीत लिया।

संबंधित खबरें