ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार बक्सरपेज तीन की लीड, बजट

पेज तीन की लीड, बजट

बजट को किसी ने सराहा तो किसी ने कहा निराशाजनक उम्मीद बजट में किसको क्या मिल रहा है, यह जानने के लिए दिनभर लोग टीवी और मोबाइल पर नजरें गड़ायें रहे आम बजट संतुलित व मध्यम वर्ग के हित में लाया गया...

पेज तीन की लीड, बजट
हिन्दुस्तान टीम,बक्सरThu, 01 Feb 2024 08:30 PM
ऐप पर पढ़ें

बजट को किसी ने सराहा तो किसी ने कहा निराशाजनक
उम्मीद

बजट में किसको क्या मिल रहा है, यह जानने के लिए दिनभर लोग टीवी और मोबाइल पर नजरें गड़ायें रहे

आम बजट संतुलित व मध्यम वर्ग के हित में लाया गया है

सभी वर्गों को लाभ, देश की आर्थिक स्थिति मजबूत होगी

फोटो संख्या 14 कैप्शन- गुरुवार को शहर के सत्यदेव मिल में टीवी पर बजट देखते व्यवसायी।

बक्सर, हिन्दुस्तान प्रतिनिधि। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के संसद में अंतरिम बजट 2024-2025 पेश किये जाने के दौरान बक्सर जिले में हर वर्ग के लोग बजट में हो रही घोषणाओं को जानने को लेकर उत्सुक दिखें। खास करके व्यवसाई व मध्यम वर्ग समेत किसान, महिला व युवाओं में इस बार के बजट को लेकर हर्ष व्याप्त रहा। आखिरकार, बजट में किसको क्या मिल रहा है, यह जानने के लिए दिनभर लोग टीवी और मोबाइल पर नजरें गड़ायें रहे। समाज के हर वर्ग के लोग अपने सरोकार से जुड़ी वस्तुओं के सस्ते होने और युवा रोजगार जैसी घोषणाओं की उम्मीद लगाए बैठे थे। बजट जब पेश किया गया तो सुदूरवर्ती गांव से लेकर शहर तक के लोगों की अलग-अलग प्रतिक्रिया सामने आई।

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का आखिरी बजट होने के कारण जिले के लोगों को इससे काफी उम्मीदें थी। बजट को लेकर शहर के लोगों की अलग-अलग प्रतिक्रिया देखने को मिली। शहर के व्यवसाई पंकज केशरी ने बताया कि इस बजट में वित्त मंत्री ने बड़ी घोषणाओं से परेहज किया है। नेहा केशरी की मानें तो इस अंतरिम बजट में महिलाओं के लिए बड़ी घोषाएं की गई है। जिसमें मां व नवजात के स्वास्थ्य की देखभाल को एक व्यापक कार्यक्रम के तहत लाया जायेगा। बेहतर पोषण वितरण, प्रारंभिक बचपन की देखभाल और विकास के लिए सक्षम आंगनबाड़ी के साथ-साथ पोषण 2.0 के तहत आंगनबाड़ी केंद्रों के उन्नयन में तेजी लाने की बात कहीं गई है। आईटीआई फिल्ड के रहने वाले अमित पाण्डेय ने कहा कि यह बजट आत्मनिर्भर भारत के संकल्पों को पूर्ण करने वाला है।

मध्यम वर्गीय लोगों का बजट में खास ख्याल

गरीब, किसान, युवा, आदिवासी, दलित, पिछड़ों, शोषितों, वंचितों, आर्थिक रूप से पिछड़ों व मध्यम वर्गीय लोगों का बजट में खास ख्याल रखा गया है। वहीं मध्यम वर्ग के लिए सात लाख तक की आय टैक्स फ्री को इस बार ज्यों का त्यों रखा गया है। शहर के मेन रोड निवासी छात्र भोला वर्मा का कहना है कि स्किल इंडिया के तहत युवाओं को दिया जा रहा प्रशिक्षण उनकों हुनरमंद बना रहा है। पीएम मुद्रा योजना, स्टार्ट अप इंडिया और स्टार्ट अप क्रेडिट गारंटी योजना से युवा वर्ग को सहायता मिल रही है।

बजट में खेल, नारी शक्ति को प्रोत्साहन से खुशी

बजट में खेल, नारी शक्ति को प्रोत्साहन के साथ-साथ विकसित भारत की परिकल्पना झलकती है। दूसरी ओर केंद्रीय बजट को लेकर सरकारी दलों व विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने भी अपना विचार व्यक्त किया है। एक तरफ भाजपा व सहयोगी दलों के नेताओं ने इस बजट की जमकर सराहना की है। तो वहीं कांग्रेस व राजद के नेताओं व कार्यकर्ताओं ने इसे निराशाजनक व चुनावी बजट करार दिया है। विपक्षी नेताओं का कहना है कि इस बजट से जिले को कुछ भी नहीं मिलने वाला है।

----------------

सरकार की दूरदर्शिता दर्शाता है केंद्रीय बजट

आभार

बजट में 2047 तक विकसित भारत का रोडमैप

किसान, युवा और महिलाओं पर बजट में फोकस

बक्सर, निज संवाददाता। भाजपा के मीडिया पैनलिस्ट डॉ. मनोज कुमार ने केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के अंतरिम बजट को देश के चहुंमुखी विकास की दिशा में मील का पत्थर बताया। कहा कि केन्द्रीय बजट में किसान, गरीब, महिलाओं और युवाओं पर फोकस किया गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 2047 तक विकसित भारत के सपने को मूर्तरूप देने के लिए भविष्य का रोडमैप बजट में दर्शाया गया है। जो केन्द्र सरकार की दूरदर्शिता को दर्शाता है। डॉ. मनोज ने कहा कि देश की नारी शक्ति को और सशक्त बनाने के लिए मोदी सरकार पूरे समर्पण के साथ निरंतर कार्यरत है।

-------------------

'ज्ञान' को समर्पित है अंतरिम बजट: अश्विनी चौबे

फोटो संख्या-16 कैप्सन- अश्विनी चौबे।

बक्सर। केंद्रीय राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि अंतरिम बजट 'ज्ञान' को समर्पित है। यानी गरीब (जी), युवा (वाई), अन्नदाता (ए) और नारी शक्ति(एन) को सशक्त बनाना है। विकसित भारत के संकल्प को मजबूती प्रदान करने वाले उत्कृष्ट, समावेशी अंतरिम बजट के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का अभिनंदन किया। यह बजट सर्वांगीण विकास व सशक्तिकरण को समर्पित है। साथ ही, राष्ट्र निर्माण को समर्पित यह अंतरिम बजट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकसित भारत, सशक्त भारत विजन को साकार करने वाला है।

--------------

विकास ही मोदी सरकार की गारंटी

फोटो संख्या-13 कैप्सन- संतोष रंजन।

बक्सर। भाजपा के प्रदेश मंत्री संतोष रंजन राय ने कहा कि यह बजट युवा, महिला, किसान, गरीब और मध्यमवर्गीय परिवार को लाभ पहुंचाने वाला है। 10 वर्षों में मोदी सरकार की ओर से जितना विकास देश में किया गया है। वह विश्व कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। विकास ही मोदी सरकार की गारंटी है। इस बजट के आधार पर अगले कुछ वर्षों में करोड़ों बहनों को लखपति बनाना है। बजट में 11.1 प्रतिशत की बढ़ोतरी देश की सुरक्षा पर किया गया है। बजट से बिहार की जनता का सर्वाधिक विकास होगा। भाजपा नपेता ने वित्तमंत्री, प्रधानमंत्री और उनके साथ विकास के संकल्प के साथ काम करने वालों को बधाई देते हुए आभार जताया है।

-----------

बजट संवाद

बजट से होने वाले नफा-नुकसान का आकलन करते रहे लोग

बक्सर। केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण जब बजट पेश कर हीं थी, उस वक्त बजट पर जिलेवासियों की पहले से ही टकटकी लगी हुई थी। संसद में पेश बजट के लाइव प्रसारण देखने के लिए लोग टीवी, यूट्यूब, फेसबुक के माध्यम से बजट भाषण को ध्यान से देख-सुन रहे थे। साथ ही बजट से होने वाले नफा-नुकसान का आकलन करते रहे। कोई इसे चुनावी बजट की संज्ञा देते हुए लोकलुभावन बता रहा था, तो किसी के द्वारा मध्यम वर्ग को साधने की कोशिश करार दी जा रही थी।

1. इस बार का अंतरिम बजट मेडिकल क्षेत्र में करियर बनाने की इच्छा रखने वाले छात्रों का उम्मीदों को पंख लगा दी है। सरकार ने देश में डॉक्टर बनने का सपना देख रहे युवाओं के लिए अंतरिम बजट में बड़ी घोषणा की है। जिसमें केंद्र सरकार ने मेडिकल कॉलेजों की संख्या को बढ़ाने की बात कहीं है।

फ़ोटो संख्या 04 कैप्शन - डॉ. अजीत, सचिव, आईएमए

2. केंद्र सरकार के अंतरिम बजट में अनुपुरक बजट रहा है। चार महीने के इस बजट में व्यवसाई वर्ग के लिए कोई खास बात नहीं है। वित्त मंत्री ने प्रत्‍यक्ष करों की मौजूदा दरों को बरकरार रखते हुए इनकम टैक्स में कोई बदलाव नहीं। जबकि इनकम टैक्स में छूट की उम्मीद की जा रही थी। हालांकि लक्ष्यद्वीप को पर्यटन के तौर पर बढ़ावा देना सरकार का बेहतर कदम है।

फोटो संख्या 05 कैप्शन -सत्यदेव प्रसाद, अध्यक्ष, चैंबर ऑफ कॉमर्स

3. अंतरिम बजट में महिलाओं, किसानों, नौकरीपेशा, लोगों, व्यापारियों के लिए कई महत्वपूर्ण घोषणा की गई है। इसके अलावा छात्र, मजदूर, डिफेंस सेक्टर, स्पेस रिसर्च एंड इनोवेशन सेक्टर के लिए भी सरकार ने जरूरी ऐलान किये है। कुल मिलाकर केंद्र सरकार ने हर पहलू पर नजर रखते हुए बजट पेश किया गया है।

फोटो संख्या 07 कैप्शन- राकेश कुमार, अधिवक्ता, सिविल कोर्ट

4. बजट में किसानों का विशेष ख्याल रखा गया है। बजट में पीएम किसान योजना और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को लेकर जिक्र किया गया है। जिससे किसानों को काफी फायदा हो रहा है। यह देश को सशक्त, समृद्ध व उज्जवल बनाने वाला बजट है। इसमें महिला, युवा व गरीबों का भी ध्यान रखा गया है।

फोटो संख्या 06 कैप्शन -किशन केशरी, सेन्ट्रल को-ऑपरेटिव बैंक, प्रभारी प्रबंधक

5. किसानों के लिए बजट में ऐसा कुछ नहीं जिसको लेकर वे खुश हों। इस बार कृषि बजट में सिर्फ दो प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की गई है। एमएसपी का दायरा भी नहीं बढ़ाया गया। किसान सम्मान निधि के तहत चार सालों से छह हजार रुपये ही मिल रहे हैं। इस बार उम्मीद थी कि इसमें कुछ वृद्धि होगी, लेकिन कुछ नहीं हुआ।

फोटो संख्या 09 कैप्शन-रामप्रवेश यादव, किसान नेता

6. बजट में ऐसा कुछ नहीं है, जिसकी सराहना की जाए। देश के किसानों के लिए सरकार की तरफ से ऐसा कोई कदम नहीं उठाया गया, जिससे उन्हें राहत मिले। किसान सम्मान निधि की राशि तक नहीं बढ़ाई गई। किसानों का कर्ज भी माफ नहीं किया गया। बेहद निराशाजनक बजट रहा। चुनावी साल में केंद्र सरकार से ऐसे बजट की उम्मीद नहीं थी।

फोटो संख्या 08 कैप्शन -अश्विनी कुमार चौबे, बनारपुर

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें